Corona Severe Symptoms: कोरोना के 'जानलेवा' लक्षण कतई न करें नजरअंदाज, तुरंत जाएं अस्पताल

कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा है. मौजूदा हालात ने दुनिया भर में हाहाकार मचा दिया है. मेडिकल एक्सपर्ट्स का कहना है कि नया कोविड स्ट्रेन (New cavid strain) तेजी से फैल रहा है, साथ ही इस बार कुछ अलग लक्षण भी दिख रहे हैं. ऐसे में जानना जरूरी है कि कौन से लक्षण दिखने पर तुरंत सचेत होने की आवश्यकता है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Apr 18, 2021, 17:12 PM IST
1/5

बेहोशी की हालत

coronavirus symptoms

इस बार कोरोना संक्रमण से कई मरीजों का ब्रेन फंक्शन और नर्वस सिस्टम प्रभावित हो रहा है. लगातार इस तरह के केस आ रहे हैं जिसमें मरीज बेहोश हो जा रहा है. कई मरीजों के सोचने समझने की शक्ति कम हो रही है. डॉक्टरों का कहना है कि यदि मरीज की बोलते समय जुबान लड़खड़ा रही है या चलते समय कदम लड़खड़ा रहे हैं तो स्थिति गंभीर है.

 

2/5

छाती में दर्द की शिकायत

Covid Chest Pain

कोरोना संक्रमण के दौरान छाती में दर्द को नजरअंदाज न करें. कोरोना फेफड़ों की म्यूकोसल लाइनिंग पर अटैक करता है. इसलिए छाती के इस हिस्से में मरीज को दर्द और जलन महसूस होने लगती है. ऐसी हालत खतरे से खाली नहीं है.

 

3/5

सांस में तकलीफ तो तुरंत हों सचेत

Corona hospital

कोराना संक्रमित मरीज के लिए सबसे खतरनाक स्थिति मानी जाती है सांस लेने में तकलीफ. सांस में तकलीफ, छाती में दर्द या इंफेक्शन से खतरा ज्यादा बढ़ जाता है. रेस्पिरेटरी इंफेक्शन होने के नाते कोरोना वायरस हमारे 'अपर ट्रैक्ट' में हेल्दी सेल्स पर हमला करता है. इसके बाद मरीज को सांस लेने में तकलीफ होने लगती है. अगर सांस लेने में तकलीफ हो तो तुरंत अस्पताल जाना चाहिए.

4/5

होठों पर नीलापन

Coronavirus

शरीर में ऑक्सीजन लेवल प्रभावित होने पर कई बार होंठ और चेहरा नीला पड़ जाता है. ऐसी हालत में हमारे टिशूज को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है. ऐसी स्थिति में तुरंत अस्पताल में संपर्क करना चाहिए.

5/5

ऑक्सीजन लेवल कम तो खतरे की घंटी

Corona symptoms

कोरोना संक्रमण के दौरान ऑक्सीजन लेवल लगातार चेक करते रहना चाहिए. कोरोना संक्रमण के चलते फेफड़ों के एयर बैग में फ्लूड भर जाता है और शरीर में ऑक्सीजन लेवल की कमी होने लग जाती है. ऐसा होने पर मरीज असहज महसूस करने लगता है. अगर जरा भी लारपवाही की तो जानलेवा हो सकती है यानी जैसे ही ऑक्सीजन लेवल कम हो तुरंत अस्पताल पहुंचे.