पंजाब के 'पावर प्ले' में क्यों पिछड़े सिद्धू, रंधावा, जाखड़; Charanjit Singh Channi को 'कैप्टन' बनाने के पीछे कांग्रेस का प्लान?
X

पंजाब के 'पावर प्ले' में क्यों पिछड़े सिद्धू, रंधावा, जाखड़; Charanjit Singh Channi को 'कैप्टन' बनाने के पीछे कांग्रेस का प्लान?

पंजाब के नए मुख्यमंत्री (Punjabs New Chief Minister) के तौर पर चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) के नाम का ऐलान कर कांग्रेस ने इस बार सबको चौंका दिया है.

 

पंजाब के 'पावर प्ले' में क्यों पिछड़े सिद्धू, रंधावा, जाखड़; Charanjit Singh Channi को 'कैप्टन' बनाने के पीछे कांग्रेस का प्लान?

चंडीगढ़: पंजाब (Punjab) के नए मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान हो गया है. इस बार कांग्रेस ने भी बीजेपी की तरह सबको चौंका दिया. कांग्रेस ने चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) को अब पंजाब का 'कैप्टन' बनाया है. हालांकि कांग्रेस विधायक दल (CLP) की बैठक होने तक लगातार चन्नी के नाम की कहीं कोई चर्चा नहीं थी. जिन नामों पर चर्चा थी उनकी जगह कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पंजाब के नए सीएम के तौर पर चन्नी के नाम पर मुहर लगाई. सवाल उठता है कि आखिर बड़े-बड़े चेहरों को पीछे छोड़ चरणजीत सिंह चन्नी पर कांग्रेस ने क्यों दांव खेला?

ये 3 नाम थे सीएम की रेस में सबसे आगे

दरअसल पंजाब के सीएम पद की रेस में लास्ट तक सबसे आगे पूर्व पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ (Sunil Kumar Jakhar), पंजाब कांग्रेस के चीफ नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और कैप्टन अमरिंदर सिंह का विरोध करने वाले सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) का नाम सबसे आगे चलता रहा. कयास लगाए जाते रहे कि आगामी विधान सभा चुनावों को देखते हुए पार्टी हाईकमान इन तीनों में से ही किसी एक नाम पर दांव लगाएगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ. बल्कि कांग्रेस ने पहली बार राज्य में दलित चेहरे को आगे बढ़ाते हुए चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम बनाया. 

दलित वोटों पर नजर

चरणजीत सिंह चन्नी 1966 में हुए राज्य के पुनर्गठन के बाद से पहले दलित सीएम होंगे. चन्नी को सीएम बनाया जाना भले ही सरप्राइज माना जा रहा है लेकिन कांग्रेस ने उन पर दांव खेलकर दलित वोटर्स को बड़ा संदेश देने की कोशिश की है. कहा जा रहा है कि दलित नेता को सीएम बनाकर कांग्रेस ने बड़ी आबादी को साधने का काम किया है. उन्हें कमान देकर कांग्रेस हिंदू, दलित और सिखों को एक साथ साधने का प्रयास करेगी.

यह भी पढ़ें; पंजाब के नए मुख्यमंत्री के नाम का हुआ ऐलान, कांग्रेस ने इस दलित चेहरे पर चला दांव

अकाली दल को दिया झटका

कांग्रेस नेतृत्व अब आपसी गुटबाजी का रिस्क नहीं लेना चाहता इसीलिए अब ऐसे नेता को कमान दी है, जिसके नाम पर कभी कोई विवाद नहीं रहा है. दूसरी तरफ कांग्रेस ने अकाली दल के प्लान पर पानी फेरने की योजना के भी संकेत दिए हैं. दरअसल पंजाब में अकाली दल और बीएसपी ने हाल ही में गठजोड़ का ऐलान किया है. अकाली दल लगातार अपनी सरकार में दलित डिप्टी सीएम देने की बात भी कह रहा है. माना जा रहा है कि कांग्रेस के इस फैसले से अकाली दल और बसपा गठजोड़ को नुकसान करने की योजना को बल मिल सकता है.

चरण सिंह चन्नी का राजनीतिक सफर

कांग्रेस की विधायक दल की बैठक में नेता चुने गए चरणजीत सिंह चन्नी का घर मोरिंडा (Morinda) में है, यहां लोग पटाखे चलाकर खुशी का इजहार कर रहे हैं. लगातार नारेबाजी हो रही है. चन्नी इस वक्त पंजाब में कैबिनेट मंत्री हैं. वे इस बार श्री चमकौर साहिब से चुनकर विधान सभा पहुंचे. वह इस सीट से 2007 से लगातार जीत रहे हैं. चन्नी 2015 में कांग्रेस पार्टी की तरफ से LOP भी रहे हैं. 2017 मैं पहली बार कैबिनेट मंत्री बने. 

LIVE TV

Trending news