मुंबई, दिल्ली के बाद जयपुर में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित केस, राजस्थान में 897

13 अप्रैल को रात 9 बजे तक राजस्थान में कोरोना के 93 नए मामले सामने आए हैं. 

मुंबई, दिल्ली के बाद जयपुर में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित केस, राजस्थान में 897
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. 13 अप्रैल को रात 9 बजे तक राजस्थान में कोरोना के 93 नए मामले सामने आए हैं. इसी के साथ अब राजस्थान में कोरोना के पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 897 पहुंच गया है.

खबर के मुताबिक, जयपुर में कुल 29 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. वहीं, जोधपुर से 31, भरतपुर से 11, बांसवाड़ा से 7, दौसा से 3, कोटा से 9 और झालावाड़ से 1 नया केस सामने आया है. इसके अलावा ईरान से लौटे यात्रियों में भी आज 2 नए केस सामने आए हैं.  
 
राजस्थान में जिलेवार कोरोना वायरस के आंकड़ों की बात करें तो 13 अप्रैल रात 9 बजे तक जयपुर में 370, बांसवाडा में 59, जोधपुर में 82, टोंक में 59, बीकानेर में 34, कोटा में 49, जैसलमेर में 29, झुंझुनू में 31, भीलवाड़ा में 28, झालावाड़ में 15, चुरू में 14, अजमेर में 5, अलवर में 7, भरतपुर में 20, दौसा में 11, धौलपुर में 1, डूंगरपुर में 5, करौली में 3, पाली में 2, सीकर में 2, उदयपुर में 4, प्रतापगढ़ में 2 नागौर में 6, बाड़मेर में 1, हनुमानगढ़ में 2 मामले सामने आए हैं. वहीं, ईरान से लौटे यात्रियों में से अब तक कुल 54 पॉजिटिव मरीज है. दो इटली से आये पयर्टक पाए गये पॉजिटिव थे.  

साथ ही आपको बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. शर्मा ने कहा कि भले ही प्रदेश के 25 जिलों तक कोरोना पहुंच गया और संक्रमितों की संख्या भी बढ़ रही है, लेकिन एक सुखद बात यह भी है. अब तक 133 लोग पाॅजीटिव से नेगेटिव हो चुके हैं. इनमें से 63 लोगों को तो डिस्चार्ज भी कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश के लिए यह फख्र की बात है कि कुल संक्रमितों से 22 फीसद से ज्यादा मरीज उपचार के बाद पाॅजिटिव से नेगेटिव भी हो चुके हैं.

कोरोना के कुचक्र को तोड़ने के लिए ज्यादा सैंपलिंग जरूरी
चिकित्सा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में हालात पूर्णतया नियंत्रण में है. उन्होंने कहा कि रामगंज में कोरोना के कुचक्र को तोड़ने के लिए रूटिन सैंपलिंग के अलावा क्लसटर मैनेजमेंट सैंपलिंग भी की जा रही है. सरकार का जोर ज्यादा से ज्यादा सैंपलिंग पर है. जितने ज्यादा टेस्ट होंगे उतना ही जल्दी हालात का आकलन कर काबू पाया जा सकेगा.

ये भी पढ़ें: हॉटस्पॉट वाले इलाकों से लोग चोरी-छिपे भाग रहे दूसरे स्थानों पर, कॉलोनियों में हड़कंप 

वहीं, राजस्थान में  कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को लेकर गहलोत सरकार हर जरूरी कदम उठा रही है. इसी कड़ी में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 11 जिलों के कलेक्टर से सवांद किया. मुख्यमंत्री ने सभी कार्यों को निर्देश दिए कि कोविड-19 का संक्रमण रोकने के लिए रूथलेस कन्टेनमेंट पर फोकस करना होगा. सीएम ने कहा कि ज्यादा से ज्यादा टीमें तैयार कर हर घर का करें सर्वे किया जाए. इसके लिए जो इलाके हॉट-स्पॉट के रूप में चिन्हित किए गए हैं, वहां कर्फ्यू और लॉकडाउन की सख्ती से हो पालना की जाए.