अजमेर: चोरी के आरोपी ने जेल में की आत्महत्या, पूरा पीसांगन थाना हुआ लाइन हाजिर

मेवाड़िया रोड पर स्थित बालाजी मंदिर में गत 11 मई को चोरी के मामले में पूछताछ के लिए लाए गए कालेसरा निवासी आरोपी मांगीलाल ने हवालात में बने शौचालय में संदिग्ध परिस्थितियों में लटक कर आत्महत्या कर ली.

अजमेर: चोरी के आरोपी ने जेल में की आत्महत्या, पूरा पीसांगन थाना हुआ लाइन हाजिर
प्रतीकात्मक तस्वीर

अजमेर: पुलिस हिरासत में चोरी के आरोपित और थाने के हिस्ट्रीशीटर द्वारा आत्महत्या मामले में जिला पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने थानाधिकारी लक्ष्मण सिंह सहित 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है. वहीं पूरे थाने को ही लाइन हाजिर कर दिया गया है. इस मामले की जांच जुडिशल मजिस्ट्रेट के द्वारा करवाई जा रही है. फिलहाल पुलिस ने मृतक कालेसरा निवासी मांगीलाल के शव को जेएलएन मोर्चरी में रखवाया है. जहां मेडिकल बोर्ड के माध्यम से पोस्टमार्टम कर जांच को शुरू किया जाएगा. 

गौरतलब है कि मेवाड़िया रोड पर स्थित बालाजी मंदिर में गत 11 मई को चोरी के मामले में पूछताछ के लिए लाए गए कालेसरा निवासी आरोपी मांगीलाल ने हवालात में बने शौचालय में संदिग्ध परिस्थितियों में लटक कर आत्महत्या कर ली. जिसके बाद हड़कंप मच गया. मामले की सूचना आईजी संजीव कुमार नर्सरी, एसपी कुंवर राष्ट्रदीप न्यायिक, मजिस्ट्रेट पुष्कर, निर्मल व्यास उपखंड़ अधिकारी समदर सिंह भाटी, एडिशनल एसपी पन्नालाल मीणा, सहित मांगलियावास थानाधिकारी अयूब खान पुष्कर थानाधिकारी हेमेंद्र शर्मा समेत तमाम पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे.

मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए थाने को लाइन हाजिर करने के साथ ही मामले में सम्मिलित पाए जाने वाले थानाधिकारी समेत अन्य 5 पुलिस जवानों को सस्पेंड कर दिया गया है. मृतक मांगीलाल जाट ने बैरक में रखे कंबल को फाड़ कर रस्से नुमा करते हुए. उसको शौचालय में लगे जाली के सरिए में फंसा कर शौचालय का कमरा बंद कर आत्महत्या कर ली. वहीं दो दिन पूर्व ही थाने में ड्यूटी ज्वाइन करने वाली प्रशिक्षु कांस्टेबल व संतरी रेखा रावत यह सोचती रही कि आरोपी लघुशंका से निवृत हो रहा है.

मृतक के आत्महत्या करने के बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट पुष्कर निर्मल व्यास थाने पहुंचे. जिन्होंने जांच शुरू करते हुए मौका मुआयना कर मामले की न्यायिक जांच शुरू की. पुलिस हिरासत में आत्महत्या करने वाले कालेसरा निवासी मृतक मांगीलाल जाट आदतन अपराधी था. उसके विरुद्ध अब तक पीसांगन समेत प्रदेश के अन्य थानों में कुल 8 मामले दर्ज थे.