अजमेर से अपहरण कर जयपुर और टोंक में छात्रा से 5 दिन तक गैंगरेप, खाने को देते थे मांस
X

अजमेर से अपहरण कर जयपुर और टोंक में छात्रा से 5 दिन तक गैंगरेप, खाने को देते थे मांस

अजमेर (Ajmer News) के निजी की कॉलेज छात्रा का अपहरण कर बंधक बनाते हुए जयपुर और टोंक गैंगरेप का मामला सामने आया है.

अजमेर से अपहरण कर जयपुर और टोंक में छात्रा से 5 दिन तक गैंगरेप, खाने को देते थे मांस

Ajmer: राजस्थान के अजमेर (Ajmer News) के निजी की कॉलेज छात्रा का अपहरण कर बंधक बनाते हुए जयपुर और टोंक गैंगरेप का मामला सामने आया है. छात्रा ने बीकानेर से रिपोर्ट दी है जिसके आधार पर अजमेर के गेगल थाने में जीरो नंबर की रिपोर्ट दर्ज की गई है. मामला करीब एक साल पुराना है. SHO नन्दू सिंह ने बताया कि शुक्रवार देर रात मामला दर्ज करवाया गया है. मामले की जांच IPS सुमित मेहरड़ा को सौंपी गई है.

अजमेर में अध्ययन करने वाली पीड़िता ने दी रिपोर्ट में बताया कि कॉलेज में उसकी दोस्ती आमिन नाम के व्यक्ति से हुई थी, जिसके बाद आमिर ने 25 अक्टूबर 2020 को दोस्त मोहम्मद फरदीन के साथ मिलकर दोस्ती का फायदा उठाकर उसका अपहरण किया और उसे जयपुर ले गए. जहां नशीला पदार्थ पिलाकर उसके साथ कमरे में दुराचार किया गया. इस दौरान उनके साथ एक और युवक मौजूद था और इसके बाद तीनों आरोपी उसे अपने परिचित के घर टोंक ले गए, जहां तीनों ने सामूहिक दुष्कर्म किया. वह वहां से कुछ दिनों बाद मुक्त होकर अपने घर पहुंची लेकिन बदमाशों ने उसे उसके भाई को जान से मारने की धमकी दी और इस घटना का किसी से जिक्र नहीं करनी चेतावनी दी.

यह भी पढ़ें: बीते 48 घंटों में फिर से बदला मौसम, दिन और रात के तापमान में हल्की बढ़ोतरी दर्ज

पीड़िता ने पुलिस (Ajmer Police) को बताया कि आमिन पहले धर्म बदलकर उसे धोखा दे चुका है. होश में आने पर आमिर से बार-बार परेशान करने का कारण पूछा. उससे कहा कि जैसा तुमने कहा वैसा किया फिर मुझे क्यों लाए हो. इस पर आमिर ने कहा कि जहां ले जाता हूं चल, जैसा कहता हूं कर. जयपुर में अमीन के चाचा के लड़के आमिर व फैजान के घर पर लेकर गया. वहां दो घंटे तक जबदरस्ती मारपीट कर गैंगरेप किया. साथ ही, खुद का धर्म कबूल करने का दबाव डाला. ऐसा नहीं करने पर जान से मारने की धमकी दी. इसके बाद धर्म विशेष के स्थल पर ले गया. वहां पर पता नहीं क्या पिलाया, वह उसके बाद बेहोश हो गई और उन्होंने 5 दिन तक टोंक स्थित उनके चाचा की मकान पर उसे बंधक बनाकर रखा और किसी भी तरह का पुलिस को बयान देने से मना कर दिया और जान से मारने की धमकी दी, जिसके चलते उन्होंने जैसा बोला वह वैसा ही करती गई. इस दौरान उसे एक बंद कमरे में खाने के लिए मांस-मीट देते थे. नहीं खाया तो मारपीट करते थे. साथ ही धर्म परिवर्तन का भी दबाव डाला. 

जब वह अपने घर पहुंची तो उसे पूरी असलियत मालूम हुई और उसने परिवार की मदद से थाने में शिकायत दर्ज कराते हुए इस मामले में उचित कार्रवाई की मांग रखी है, जिससे कि इस तरह का कृत्य करने वाले आरोपियों को सजा मिल सके.

Report : Ashok Singh Bhati

Trending news