Rajasthan: निकाय चुनाव में Congress को जिताने की Ashok Gehlot ने की अपील, कहा...

सीएम ने कहा कि कांग्रेस सरकार के दौरान 30-40 सालों से अटके जमीनी पट्टों की स्वीकृतियां भी जारी की गई. बढ़ती आबादी के युग में भी कांग्रेस पार्टी ने शहरों का सर्वांगीण विकास किया है.

Rajasthan: निकाय चुनाव में Congress को जिताने की Ashok Gehlot ने की अपील, कहा...
अशोक गहलोत ने निकाय चुनाव में कांग्रेस को जिताने की अपील की. (फाइल फोटो)

जयपुर: प्रदेश में 28 जनवरी को होने वाले 90 नगरीय निकायों के चुनाव को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जनता से कांग्रेस को जिताने की अपील की है. गहलोत ने कहा है कि ऐसा अनुभव है कि जब-जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार रही है. तब कच्ची बस्तियों से लेकर कस्बों तक का समुचित विकास हुआ है.

उन्होंने कहा कि प्रशासन शहरों के संग अभियान बेहद सफल रहे हैं. जिनसे लाखों लोगों की समस्याओं का निदान हुआ है. कांग्रेस सरकार के दौरान 30-40 सालों से अटके जमीनी पट्टों की स्वीकृतियां भी जारी की गई. बढ़ती आबादी के युग में भी कांग्रेस पार्टी ने शहरों का सर्वांगीण विकास किया है. 

मुख्यमंत्री गहलोत ने अपील की है कि जनता इन चुनावों में पुन: आशीर्वाद देकर कांग्रेस के बोर्ड बनाए. अपने कस्बों और शहरों में विकास के लिए कड़ी से कड़ी जोड़े. राज्य सरकार विभिन्न समस्याओं को कर प्रदेश के चहुंमुखी विकास के लिए कृतसंकल्प है.

ये भी पढ़ें-BJP कोर ग्रुप की बैठक से क्यों दूर रही Vasundhara Raje, Poonia ने दिया यह जवाब...

 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा कि ये नहीं भूलना चाहिए कि बीजेपी ने पंचायतीराज चुनाव नतीजों पर संख्या बल के आधार पर प्रदेश से राष्ट्रीय स्तर पर जीत का ढिंढोरा पीटा. लेकिन जब परिणाम सामने आए तो यह झूठ सामने आ गया. कांग्रेस ने बीजेपी के बराबर 98 प्रधान बनाए. पंचायत समिति चुनाव में कांग्रेस का वोट प्रतिशत भी बीजेपी से ज्यादा था.

सीएम ने कहा कि जब प्रदेश की सरकार और कांग्रेस का संगठन कोरोना प्रबंधन में लगा हुआ था, तब बीजेपी नेताओं ने सहयोग करने की बजाय गांवों में जाकर भ्रामक प्रचार किया. जिसके कारण जनता को गुमराह करने में सफल हो गए. लेकिन इनके 15 दिन बाद ही हुए 50 नगरीय निकाय चुनावों में बीजेपी की पोल खोल गई. बीजेपी के जीते पार्षदों की संख्या कांग्रेस और निर्दलीयों से भी कम रही, बीजेपी तीसरे स्थान पर पहुंच गई. कांग्रेस ने 50 में से 38 निकायों में बोर्ड बनाया.