कलयुगी बेटे ने लाठियों ने पीटकर पिता की हत्या की, बताया क्यों दिया वारदात को अंजाम

आरोपी ने बताया कि खेत में सोने के दौरान उसने पिता पर लाठियों से सिर पर हमला कर दिया, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई और वो फिर आकर घर में चुपचाप सो गया.

कलयुगी बेटे ने लाठियों ने पीटकर पिता की हत्या की, बताया क्यों दिया वारदात को अंजाम
कलयुगी बेटे ने लाठियों ने पीटकर पिता की हत्या की. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Dholpur: धौलपुर जिले के बाड़ी उपखंड की सदर थाना के पुलिस ने गांव मोहनपुरा में बीते 24 मई को खेत में वृद्ध की हत्या के मामले में आरोपी पुत्र को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की पड़ताल में हत्या जमीन के विवाद को लेकर किया जाना सामने आया है. पुलिस ने गिरफ्तार आरोपी से मामले में गहनता से पूछताछ शुरू कर दी है.

बाड़ी सदर थाना प्रभारी योगेंद्र सिंह राजावत ने बताया कि भरत सिंह (65) का शव उसी के खेत में 25 मई की सुबह घरवालों को पड़ा मिला. उस पर लाठी से प्रहार किये गए थे, ऐसे में पुलिस ने शव कब्जे में लेकर उसका पोस्टमार्टम कराया. घटना को लेकर मृतक की पत्नी पूरन देवी ने अज्ञात लोगो पर हत्या का मामला दर्ज कराया था.

ये भी पढ़ें-तार-तार हुई गुरू की गरिमा, छात्रा के साथ एक करता था बलात्कार, दूसरा करता था निगरानी

 

मामले की गहनता से पुलिस पड़ताल में सामने आया कि मृतक भरत सिंह के अपने पुत्र कैलाशी से अच्छे संबंध नहीं थे, कई बार उनके बीच खेत को लेकर झगड़ा हुआ था. पुलिस ने शक के आधार पर जब कैलाशी से गहनता से पूछताछ की तो उसने जमीन को लेकर अपने पिता की हत्या करने की बात कबूल कर ली.

आरोपी कैलाशी ने बताया कि 24 मई को खेत पर उसके पिता भरत सिंह सोए हुए थे. इस दौरान रात में यहां पहुंच कर लाठियों से उसके सिर पर हमला कर दिया, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई. इसके बाद आरोपी अपने घर आकर चुपचाप सो गया. इसके बाद जब सुबह जब गांव के लोग घूमने निकले तो उन्होंने भरत का का शव खेत में पड़ा होने की सूचना दी.

ये भी पढ़ें-छात्रा की आत्महत्या केस में मिला सुसाइड नोट, कई लड़कियों की मौत की जाहिर की आशंका

 

हत्या के कारणों को लेकर पुलिस जांच में यह भी पता चला है कि मृतक भरत सिंह शराब का आदी बताया गया व इसके चलते लेकर वह काफी जमीन जायदाद पहले ही बेच चुका था. ऐसे में उसका पुत्र कैलाशी जब राम दरबार बाड़ी नदी आश्रम के पीछे स्थित एक खेत पर मकान बना रहा था, तो उसका पिता भरत पहुंचा कर विवाद कर लिया और मकान नहीं बनाने दिया. इस दौरान भरत सिंह ने जमीन को बेचने की धमकी भी दी. इस बात से नाराज होकर कैलाशी ने अपने पिता के हत्या की साजिश रची.

(इनपुट-भानु शर्मा)