जयपुर: निकाय चुनाव में कम मतदान से कांग्रेस उत्साहित, कहा-सरकार के कार्यों से खुश है जनता

कांग्रेस नेताओं का तर्क है कि कम मतदान होना बताता है कि जनता में सरकार के कामकाज को लेकर एंटी इनकम्बेंसी नहीं है.

जयपुर: निकाय चुनाव में कम मतदान से कांग्रेस उत्साहित, कहा-सरकार के कार्यों से खुश है जनता
राजस्थान में निकाय चुनाव में कम मतदान से कांग्रेस उत्साहित. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सुशांत पारीक/जयपुर: नगर निगम चुनाव के पहले चरण में जयपुर हेरिटेज में कम मतदान से कांग्रेस नेता उत्साहित नजर आ रहे हैं. कांग्रेस नेताओं का मानना है कि कम वोटिंग प्रतिशत बताता है कि जनता में सरकार के प्रति नाराजगी नहीं है. यही कारण है कि अब 1 नवंबर को जयपुर ग्रेटर को लेकर होने वाले चुनाव में कांग्रेस के नेताओं ने पूरी ताकत लगा दी है.

नगर निगम चुनाव के पहले चरण के मतदान में जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर के मुकाबले हैरिटेज जयपुर भले ही पिछड़ गया हो, लेकिन हैरिटेज में कम हुए मतदान से कांग्रेस नेता उत्साहित हैं. कांग्रेस नेताओं का तर्क है कि कम मतदान होना बताता है कि जनता में सरकार के कामकाज को लेकर एंटी इनकम्बेंसी नहीं है. 

दरअसल, गुरूवार को पहले चरण के चुनाव  में सबसे ज्यादा कोटा उत्तर नगर निगम क्षेत्र 65.12 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले. जोधपुर उत्तर नगर निगम क्षेत्र में 62.64 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. वहीं, सबसे कम जयपुर हेरिटेज नगर निगम क्षेत्र के महज 57.82  फीसदी वोटिंग हो पाई. विधानसभा के मुख्य सचेतक महेश जोशी का कहना है कि हैरिटेज नगर निगम चुनाव में कम मतदान हमारे पक्ष में गया है, सभी वर्गों ने कांग्रेस को वोट किया है. हैरिटेज में सौ फीसदी कांग्रेस का बोर्ड बनेगा. 

वहीं, दूसरी तरफ नगर निगम चुनाव के दूसरे चरण के प्रचार का शुक्रवार को आखिरी दिन है. प्रचार के अंतिम दिन होने के चलते प्रत्याशियों ने प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी है.  शाम 5 बजे प्रचार थमने के साथ ही प्रत्याशी घर-घर जाकर और समर्थन की अपील करेंगे. इस दौरान  पांच से ज्यादा समर्थकों को साथ लेकर नहीं चल पाएंगे.

नगर निगम चुनाव के दूसरे चरण में  जयपुर ग्रेटर, जोधपुर दक्षिण और कोटा दक्षिण के 310 वार्डों में एक नवंबर को मतदान होगा. जयपुर ग्रेटर के 150, कोटा दक्षिण के 80 और जोधपुर दक्षिण के 80 वार्डों में मतदान होना है. नवगठित 6 नगर निगमों में सबसे ज्यादा 150 वार्ड जयपुर ग्रेटर में है. यहां झोटवाड़ा, विद्याधर नगर, बगरू, मालवीय और सांगानेर विधानसभा क्षेत्र आते हैं.

जयपुर की अगर बात करें तो इन विधानसभा क्षेत्रों में बगरू और झोटवाड़ा में कांग्रेस के विधायक हैं तो वहीं सांगानेर मालवीय नगर और विद्याधर नगर में भाजपा का कब्जा है. ऐसे में हेरिटेज के मुकाबले इस चुनाव में भाजपा का पलड़ा भारी माना जा रहा है. 

जयपुर में हेरिटेज को लेकर उत्साहित कांग्रेस की कोशिश है कि यहां भी पार्टी के पक्ष में अधिक से अधिक मतदान हो ताकि जयपुर के दोनों नगर निगम पर काबिज होकर इतिहास को बदला जा सके.