डूंगरपुर नगरपरिषद ने शुरू की वॉल पेंटिंग प्रतियोगिता, 1 हजार बच्चों ने लिया हिस्सा

नगरपरिषद ने बेटी बचाओ-बेटी पढाओ, स्वच्छता, पर्यावरण संरक्षण व जल संरक्षण पेंटिंग प्रतियोगिता की थीम रखी है.

डूंगरपुर नगरपरिषद ने शुरू की वॉल पेंटिंग प्रतियोगिता, 1 हजार बच्चों ने लिया हिस्सा
प्रतियोगिता में शहर के एक हजार बच्चे भाग ले रहे हैं.

अखिलेश शर्मा/डूंगरपुर: राजस्थान की डूंगरपुर नगरपरिषद अपनी स्वच्छता के साथ नवाचारों को लेकर हमेशा से ही चर्चाओं में रही है. वही इसी दिशा में आगे बढ़ते हुए नगरपरिषद की डूंगरपुर शहर की उभरते हुए चित्रकारों को मंच देने के उद्देश्य से वाल पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित कर रही है. डूंगरपुर फेस्टिवल के तहत नगरपरिषद ने शहर की गेप सागर झील की रिंगवाल पर वॉल पेंटिंग प्रतियोगिता शुरू की है.

प्रतियोगिता में शहर के एक हजार बच्चे भाग ले रहे हैं. नगरपरिषद ने बेटी बचाओ-बेटी पढाओ, स्वच्छता, पर्यावरण संरक्षण व जल संरक्षण पेंटिंग प्रतियोगिता की थीम रखी है. थीम के तहत शहर के उभरते हुए चित्रकार अपनी कल्पानाओं के रंग रिंगवाल पर उकेरते हुए शहरवासियों को बेटी बचाओ-बेटी पढाओ, स्वच्छता, पर्यावरण संरक्षण व जल संरक्षण के लिए सन्देश दे रहे है. 

इधर, नगरपरिषद की ओर से यह प्रतियोगिता गुरूवार तक आयोजित होगी. प्रतियोगिता के तहत सर्वश्रेष्ठ पेंटिंग करने वाले 20 युवा चित्रकारों का डूंगरपुर फेस्टिवल के मुख्य समारोह में 31 दिसम्बर को सम्मानित किया जाएगा.

वहीं, नगरपरिषद की ओर से शहर के उभरते चित्रकारों को मंच देने की पहल की बच्चों ने तारीफ़ की है. प्रतियोगिता में भाग ले रहे नन्हे-मुन्हे चित्रकारों के साथ युवाओं ने नगरपरिषद के सभापति के. गुप्ता का आभार जताया है. उन्होंने कहा की प्रतियोगिता के तहत नगरपरिषद की ओर से प्रतिभागी को सभी तरह की स्टेशनरी, रंग और ब्रश की सुविधा नगरपरिषद द्वारा कराई जा रही है. उन्होंने कहा की इस प्रकार की पहल से युवा चित्रकारों को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिल रहा है.

बहराल, डूंगरपुर नगरपरिषद की युवा चित्रकारों को एक मंच उपलब्ध करवाने की ये पहल काबिले तारीफ है. डूंगरपुर नगरपरिषद की इस पहल से जहां युवा पत्रकारों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मंच मिला है. वहीं, पेंटिंग प्रतियोगिता के माध्यम से शहरवासियो को बेटी बचाओ-बेटी पढाओ, स्वच्छता, पर्यावरण संरक्षण व जल संरक्षण के प्रति जागरूक किया जा रहा है.