कोटा: रेलवे में नौकरी के बहाने लूटे जा रहे हैं लाखों रुपए, बड़े खुलासे की संभावना

कोटा पुलिस ने सरकारी नौकरी का झांसा देकर बेरोजगारों से लाखों रुपये ठगने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है.  

कोटा: रेलवे में नौकरी के बहाने लूटे जा रहे हैं लाखों रुपए, बड़े खुलासे की संभावना
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोटा: पुलिस ने सरकारी नौकरी का झांसा देकर बेरोजगारों से लाखों रुपये ठगने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. कोटा पुलिस ने गोरदामाल कापरेन निवासी राधा किशन बैरवा और सफी मोहम्मद को गिरफ्तार किया है. आरोपी करीब एक दर्जन बेरोजगारों से सरकारी नौकरी का झांसा देकर करीब 29 लाख 42 हजार रुपये की ठगी कर चुके हैं.

कुन्हाड़ी थाना एसआई मोहन लाल के मुताबिक 18 नवम्बर 2019 को अंबेडकर नगर निवासी तुषार ने कुन्हाड़ी थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी. तुषार ने अपनी शियाकत में कहा था कि गोरदामाल कापरेन निवासी राधा किशन बैरवा ने खुद को रेलवे में लोको पायलट पद पर कार्यरत बताते हुए रेलवे में उच्चाधिकारी से अच्छी जान पहचान बताकर रेलवे में सरकारी नौकरी दिलाने का झांसा दिया. साथ ही आधार कार्ड, शैक्षणिक योग्यता से जुड़े दस्तावेज भी ले लिए. साथ और भी कई बेरोजगारों को नौकरी का झांसा दिया.

जानकारी के अनुसार फर्जी लोको पायलट राधा किशन ने सभी बेरोजगार पीड़ितों को रेलवे में टीटी, क्लर्क सहित विभिन पदों पर नौकरी लगाने का झांसा दिया. पीड़ितों 3 से 5 लाख रुपये मांगे. पीड़ित बेरोजगारों ने राधा किशन की डिमांड पर उसके अकाउंट में पैसे डलवाये, तो किसी ने नगद भी दिए. पीड़ितों के अनुसार राधा किशन रुपये लेकर कुछ दिन बाद फरार हो गया, जिसके बाद पाड़ितों द्वारा पुलिस में शिकायत की गई.

शिकायत के बाद कुन्हाड़ी पुलिस ने राधा किशन को गिरफ्तार किया. उसकी निशानदेही पर उसके साथी सफी मोहम्मद को भी धर दबोचा. पुलिस के अनुसार आरोपी अब तक कई बेरोजगारों को सरकारी नौकरी का झांसा देकर 29 लाख 42 हजार रुपये की ठगी कर चुके हैं. पूछताछ में इनसे रुपये बरामदगी व पीड़ितों के दस्तावेज बरामदगी के प्रयास किये जायेंगे. पूछताछ में और भी खुलासा होने की उम्मीद है.