close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चुनावी नैय्या पार करने घोड़े पर सवार होकर पहुंचे नेताजी, दाखिल किया नामांकन

 राजस्थान के विधानसभा चुनाव के दौरान नामांकन के लिए जाने के दौरान ये उम्मीदवार जनता और आम लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं.

चुनावी नैय्या पार करने घोड़े पर सवार होकर पहुंचे नेताजी, दाखिल किया नामांकन
विघाघर नगर विधानसभा सीट से नामांकन दाखिल करने घोडी पर सवार होकर पहुंचे निर्दलीय प्रत्याक्षी शंकरलाल

जयपुर: राजस्थान के विधानसभा चुनाव के दौरान नामांकन के लिए जाने वाले कई उम्मीदवार जनता और आम लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. राजस्थान के अलग-अलग भागों में प्रत्याशी अपने पार्टी के चुनाव निशान के ऊपर सवार होकर नामांकन केंद्र पर पहुंच रहे हैं. कुछ हाथ में लिए झाड़ू तो कुछ उंट, घोडे और हाथी पर सवार होकर नामांकन कर रहे हैं. आमेर विधानसभा सीट से बसपा की टिकट पर चुनाव लड़ रहे नवीन पिलानिया हाथी पर सवार होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे. झोटवाडा से आप के उम्मीदवार जुगलकिशोर शर्मा  झाड़ू के साथ नामांकन दाखिल कर रहे थें. वहीं आमतौर पर घोड़ी पर आपने दूल्हे को ही सवार होते हुए देखा होगा,लेकिन एक प्रत्याशी ऐसा दिखा जो घोड़ी पर सवार होकर नामांकन फार्म भरने पहुंचे. 


झोटवाडा से आप के उम्मीदवार जुगलकिशोर शर्मा झाड़ू के साथ

जब बसपा से आमेर विधानसभा के उम्मीदवार नवीन पिलानिया हाथी पर सवार होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे, तो आमेर की विरासत और इतिहास लोगों को याद आ गई. वैसे भी आमेर हाथियों के कारण ही अपनी अलग पहचान रखता है. नामांकन के बाद नवीन पिलानिया ने कहा कि आमेर की जीत की राह इस बार हाथी से होगी. 

वहीं विघाघर नगर विधानसभा सीट से नामांकन दाखिल करने घोडी पर सवार होकर पहुंचे निर्दलीय प्रत्याक्षी शंकरलाल ने कहा कि विघाघर नगर में विकास के नाम पर सरकार ने कोई काम नहीं किया,इसलिए मैं विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ने के लिए नामांकन दाखिल कर रहा हूं. शंकरलाल का कहना है कि घोड़ी पर आने का कारण लोगों को अपनी ओर खींचने का और ध्यान दिलाने का प्रयास है.

वैसे चुनाव से पहले नामांकन के दौरान आकर्षण का केंद्र रहे इन उम्मीदवारों चुनावी मैदान में आम लोगों के विश्वास पर खरा उतरते हैं, यह चुनाव के परिणाम आने के बाद पता चलेगा.