close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: 'AK-47' के बयान पर फिर बोले जगत सिंह- 'बंदूक तो चलेगी'

बीएसपी प्रत्याशी जगत सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजस्थान सीएम अशोक गहलोत, वसुंधरा राजे पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. 

राजस्थान: 'AK-47' के बयान पर फिर बोले जगत सिंह- 'बंदूक तो चलेगी'
अलवर में मीडिया से बातचीत करते रामगढ़ से बीएसपी प्रत्याशी जगत सिंह.

प्रमोद कुमार, अलवर: राजस्थान के रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी (BSP) के प्रत्याशी जगत सिंह शनिवार को पत्थर का जवाब 'AK-47' से देने के विवादित बयान पर अब भी कायम हैं. रविवार को मीडिया से बातचीत के दौरन सिंह ने फिर कहा कि पत्थर कोई फेकेंगा तो  'AK-47' निश्चित चलेगा.

वहीं, राजस्थान के श्रम मंत्री टीकाराम जूली ने जगत सिंह के इस बयान की निंदा करते हुए कहा है कि इस पर चुनाव आयोग को जल्द संज्ञान लेना चाहिए. 

आपको बता दें कि, पूर्व केंद्रीय मंत्री नटवर सिंह के बेटे और राजस्थान के रामगढ़ से बीएसपी प्रत्याशी जगत सिंह ने शनिवार को एक सभा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजस्थान सीएम अशोक गहलोत और राज्य की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे को पेटी पैक करके भेजने की बात कही थी. उन्होंने यह भी कहा था कि गोली चलेगी तो पहले मेरे सीने में लगेगी, मैं पत्थर का जवाब AK-47 के साथ देता हूं. एएनआई की ट्वीट पर जारी वीडियो में बीएसपी प्रत्याशी सिंह सभा में मौजूद कार्यकर्ताओं से इससे भी पीछे नहीं हटने की बात कहते नजर आ रहे थे.

चुनावी सभा के दौरान बीजेपी-कांग्रेस पर जमकर साधा था निशाना

रामगढ़ से दस साल भाजपा के विधायक रहे सिंह ने नामांकन के बाद चुनावी सभा के दौरान बीजेपी-कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था. इस दौरान सिंह ने कहा था, 'सरकार बदल गई, लेकिन यूरिया और डीएपी किसानों के पास नहीं पहुंच पा रही है. वहीं भारतीय जनता पार्टी ने भी हमारे लिए कोई काम नहीं किया है. अपराधी हमारी बहन-बेटियां को घरों से उठा कर ले जा रहे हैं, हमारी गायें भी सुरक्षित नहीं है.'  इस दौरान रामगढ़ के जुगरावर में बवाल की घटना पर बीजेपी नेताओं की चुप्पी पर भी उन्होंने सवाल उठाया था. उन्होंने यह भी कहा था कि गोली चलेगी तो पहली गोली मेरे सीने पर लगेगी.

बीजेपी विधायक रहे सिंह को बीएसपी ने बनाया है प्रत्याशी

आपको बता दें कि, 2018 के विधानसभा चुनाव में राजस्थान के रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र से बीएसपी प्रत्याशी की मौत के बाद यहां चुनाव स्थगित हो गया था. इस सीट पर 28 जनवरी को चुनाव होने जा रहा है. 2013 के चुनाव में बीजेपी से विधायक बनने वाले सिंह को इस बार के विधानसभा चुनाव में पार्टी का टिकट नहीं मिला था. जिसके बाद बीएसपी ने रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र से उन्हें प्रत्याशी बनाया है.