जालोर: स्कूल की मरम्मत के लिए मास्टर जी ने किया कमाल, ऐसे जुटाए 4 लाख

वरेठा गांव के स्कूल के नए प्रधानाध्यापक ने नियुक्ति के मात्र 45 दिन में ही ऐसा काम किया की पूरे जिलेभर में इसकी तारिफ हो रही है.

जालोर: स्कूल की मरम्मत के लिए मास्टर जी ने किया कमाल, ऐसे जुटाए 4 लाख
मास्टर जी के इस काम के कारण अब दूसरे स्कूलों को लिए भी भामाशाहों ने हाथ बढ़ाए हैं.

बबलु मीणा/भीनमाल: रानीवाड़ा के वरेठा के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में नवनियुक्त प्रधानाध्यापक बुद्धाराम बिश्नोई ने संगठन की ताकत से बहुत कुछ कर दिखाने का एक उदाहरण प्रस्तुत किया है. प्रधानाध्यापक की इस पहल में गांव के सरकारी विद्यालय को संवारने में विद्यालय से निकले हुए पूर्व छात्र जुट चुके है. वहीं, प्रधानाध्यापक की इस पहल से स्कूल के विरास के लिए अब तक चार लाख रुपए जुटाए जा चुके हैं.

वरेठा गांव के स्कूल में नवनियुक्त प्रधानाध्यापक ने नियुक्ति के मात्र 45 दिन में ही ऐसा काम किया की पूरे जिलेभर में इसकी तारिफ हो रही है. प्रधानाध्यापक ने तकनीकी का उपयोग करते हुए एक वाट्सएप्प पर समूह बनाया. जिसमें इसी स्कूल से निकले हुए पूर्व छात्रों को जोड़कर विद्यालय को आधुनिक तकनीकी से सुसज्जित करने के लिए धन जुटाना शुरू किया. 

वहीं, ग्रामीणों ने भी प्रधानाध्यापक की इस पहल को बढ़ावा देते हुए लाखों रुपए का स्कूल को दान देने की घोषणा की. देखते ही देखते संगठन की शक्ति से 4 लाख की जुटाई, जिससे स्कूल के विकास के लिए उचित कदम उठाए जा सकेंगे.

गौरतलब है कि, गांव के सरकारी विद्यालय में मूलभूत सुविधाओं के अभाव में वर्तमान में पढ़ने वाले छात्रों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. यहां तक कि स्कूल में कमरों की कमी है. दीवारें टूटी हुई है. गेट नहीं है, यहां तक कि पुराने भवन भी जर्जर हालत में है. यही कारण है कि इसको लेकर प्रधानाध्यापक की पहल की ज़िलेभर में तारीफ की जा रही है. वहीं, पूर्व छात्रों की ओर से स्कूल संवारने के इस कदम की चलते दूसरे स्कूलों को लिए भी भामाशाहों ने हाथ बढ़ाए हैं.

बता दें कि भामाशाह के सहयोग से विद्यालय में अभी 12 डिजिटल सीसीटीवी कैमरे लगवाने का कार्य पूर्ण कर लिया है. वहीं, अब जमा किए हुए और फंड स्कूल में शौचालय, कक्षाओं में विद्यार्थियों के लिए सुसज्जित फर्नीचर, पेयजल के लिए पानी की टंकी सहित विद्यालय में आवश्यक कार्य हेतु खर्च किए जाएंगे.