कोरोना वायरस से यूं निपट रहा अलवर, सूनी हैं बाजारों-मोहल्लों की गलियां

अलवर जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग के साथ पुलिस महकमा भी कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहा है.

कोरोना वायरस से यूं निपट रहा अलवर, सूनी हैं बाजारों-मोहल्लों की गलियां
अलवर में सभी बाजार सुबह से सूने रहे.

जुगल, अलवर: कोरोना महामारी से बचने के लिए प्रधानमंत्री की एक दिन की जनता कर्फ्यू की अपील का असर सिर्फ शहरों में ही नहीं, गांवों में भी देखा जा रहा है. अलवर जिले में मुख्यालय सहित सभी तहसीलों पर भी इसका असर देखा गया. सुबह से कोई बाजार नहीं खुले. 

कोरोना के खिलाफ इस जंग में आमजन जागरूक नजर आ रहा है, वहीं, गहलोत सरकार द्वारा 31 मार्च तक राजस्थान में लॉक डाउन के निर्णय के बाद सभी बाजार जरूरी सेवाओं को छोड़कर बंद रहेंगे. साथ ही सरकारी विभाग और फैक्ट्रियां उद्योग-धंधे भी 31 मार्च तक बंद कर दिए गए हैं.

अलवर शहर में 21 मार्च की दोपहर बाद से ही लोगों ने स्वतः बाजार बंद कर जनता कर्फ्यू का समर्थन किया है. अलवर जिले में अभी तक 28 संदिग्धों की कारोना वायरस की जांच की, जिसमें से 19 की रिपोर्ट निगेटिव आई है. शेष की रिपोर्ट आना बाकी है. अभी अलवर में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में 7 संदिग्ध भर्ती हैं, वहीं, जिले में विदेश से लौटे करीब 180 लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया है.

अलवर में सभी बाजार सुबह से सूने रहे
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाने का आव्हान किया. इस दौरान प्रधानमंत्री द्वारा सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक आमजन को अपने घर पर रहने की अपील की गई. इसका असर आज पूरे देश प्रदेश सहित जिला और तहसील स्तर पर भी देखा गया, अलवर में सभी बाजार सुबह से सूने रहे. आमजन अपने घरों में ही रहकर इस जंग में सहयोग कर रहा है. अलवर रेलवे स्टेशन इतिहास में पहली बार इस तरह बंद हुआ. न कोई विंडो पर कर्मचारी न कोई भीड़-भाड़ क्योंकि आज ट्रेनों का संचालन भी बंद किया हुआ है. 

कोर्ट-कचहरी भी पूरी तरह बंद रहे
साथ ही सभी बाजार बंद रहे, यहां तक कि कोर्ट-कचहरी भी पूरी तरह बंद रहे. अलवर जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग के साथ पुलिस महकमा भी कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहा है, अलवर के लिए अभी तक अच्छी बात है कि यहां कोई भी संक्रमित नही है अभी तक 28 लोगों की जांच रिपोर्ट भेजी गई, जिसमें 19 की रिपोर्ट आ चुकी है, जो सभी नगेटिव हैं. अभी अन्यों की रिपोर्ट आनी है. साथ विदेशों से आए करीब 180 लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया है.