close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: बाढ़ के कई सड़क हुए क्षतिग्रस्त, जिला प्रशासन ने तैनात की बचाव दल की टुकड़ी

बारां में कई पक्के मकान और कई कच्चे मकान जमींदोज हो गए. हालंकि बाढ़ पीड़ितों का सर्वे करने पहुंचे उपखंड अधिकारी रामावतार बरनाला ने पटवारियों से सर्वे करवाकर हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया.

कोटा: बाढ़ के कई सड़क हुए क्षतिग्रस्त, जिला प्रशासन ने तैनात की बचाव दल की टुकड़ी
कई सड़क और पुलिया बाढ़ से पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई जिससे आवागमन बाधित हो गया.

राम मेहता/बारां: प्रदेश के बारां जिलें में बाढ़ के बाद रुला देने वाला तबाही का मंजर देखने को मिल रहा है. बाढ़ के कारण क्षेत्र के दर्जनों मकान टूट गए है. यहां तक कि सरकारी कार्यालय का रिकार्ड भी पानी के कारण गल गया है. वहीं कई सड़कें टूट गई है. खबरे के मुताबिक अभी तक बाढ़ के कारण लाखों करोड़ो का नुकसान हो चुका है. भारी बरसात की संभावना को देखते हुऐं जिला प्रशासन ने आज स्कूलों में छुटी की घोषणा की है. 

बारां जिलें के छबडा छीपाबडौद क्षेत्र में बाढ़ का पानी उतरने के बाद रुला देने वाला तबाही का मंजर नजर आ रहा है. क्षेत्र में कई पक्के मकान और कई कच्चे मकान जमींदोज हो गए. हालंकि बाढ़ पीड़ितों का सर्वे करने पहुंचे उपखंड अधिकारी रामावतार बरनाला ने पटवारियों से सर्वे करवाकर हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया है. उनके राशन की व्यवस्था भी करवाई वहीं उपखंड के कार्मिकों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए. 

कई सड़क और पुलिया बाढ़ से पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई जिससे आवागमन बाधित हो गया. इसी तरह की स्थिति दर्जनों जगह बनी हुई है. जिसका जिला कलेक्टर ने अधिकारियों के साथ जायजा लिया. 

छीपाबड़ोद ग्राम पंचायत समेत भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केंद्र का सम्पूर्ण रिकोर्ड जलमग्न होकर नष्ट हो गया साथ की कंप्यूटर जेरोक्स सहित अन्य उपकरण भी नष्ट हो गए. पूरें छबडा-छीपाबडौद क्षेत्र में सबसे अधिक नुकसान हुआ है. अभी नदी नालों में उफान के कारण कई रास्तें मे आवागमन ठप पडी है. भारी बरसात के बाद जिला प्रशासन ने बचाव दल की एक टुकड़ी को एहतियात तौर पर तैनात किया है.

जबकि कई इलाकों में तो कमर तक पानी बह रहा है इसके चलते लोगों का घर से बाहर निकलना भी दूभर हो गया है. बारिश के चलते तमाम दुकानें बंद है और कई इलाकों में तो कर्फ्यू जैसे हालात बने हुए हैं. लगातार बारिश के चलते देर रात को ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह को जोड़ने वाली वीआईपी नई सड़क पर पहाड़ का मलबा ढह गया जिसके चलते रोड बाधित हो गई. लगातार हो रही बारिश के बाद जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है.