90 किलो की चांदी से सजे रथ पर भक्तों को दर्शन देने निकलेंगे Udaipur के भगवान जगदीश!

जगन्नाथ पुरी की तर्ज पर उदयपुर (Udaipur) में निकलने वाली भगवान जगदीश की रथयात्रा (Rathyatra) हर साल भव्य रूप ले रही है. यात्रा को और भव्य बनाने को लेकर इन दिनों भगवान जगदीश के लिए नया चांदी का रथ तैयार किया जा रहा है. 

90 किलो की चांदी से सजे रथ पर भक्तों को दर्शन देने निकलेंगे Udaipur के भगवान जगदीश!
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Udaipur: उदयपुर ऐतिहासिक जगदीश मंदिर (Jagdeesh Temple) में इन दिनों भगवान जगदीश के लिए भव्य चांदी के रथ (Silver chariot) का निर्माण हो रहा है. इस वर्ष आयोजित होने वाली रथयात्रा में भगवान जगदीश इसी रथ में सवार हो अपने भक्तों को दर्शन देने के लिए नगर भ्रमण पर निकलेंगे. 

यह भी पढ़ें- अधिकारी के सामने मां ने फैलाया आंचल, रोते हुए बोली- मैडम, मेरी लाडली से मिलवा दो

जगन्नाथ पुरी की तर्ज पर उदयपुर (Udaipur) में निकलने वाली भगवान जगदीश की रथयात्रा (Rathyatra) हर साल भव्य रूप ले रही है. यात्रा को और भव्य बनाने को लेकर इन दिनों भगवान जगदीश के लिए नया चांदी का रथ तैयार किया जा रहा है. 

जगदीश मंदिर प्रांगण में तैयार हो रहे इस रथ को अंतिम रूप देने के लिए आधा दर्जन से अधक शिल्पकार जुटे हुए हैं, जो सागवान की लकड़ी के इस रथ पर चांदी चढ़ाने को काम कर रहे हैं. श्री रथ समिति की ओर से भक्तों से सहयोग से तैयार हो रहे इस रथ को 90 किलो चांदी से सजाया जा रहा है.

नए रथ में नहीं होगी कोई कमी
नए रथ में उन सभी खामियों को दूर किया जा रहा है, जो पहले वाले रथ में थीं. भगवान जगदीश के इस रथ को रोकने के लिए बाकायदा ब्रेक लगाए गए हैं, जिससे भीड़-भाड़ वाले स्थान पर भक्तों के दर्शन के लिए आसानी से रथ को रोका जा सके. यही नहीं, रथ के चारों पहियों को भी अन्दर लिया गया है. जिससे जब रथ खिचने वाले भक्तों के पैरों को सुरक्षित रखा जा सके.

जुलाई में होगा यात्रा का आयोजन
इस बार जुलाई माह के मध्य में रथयात्रा का आयोजन होना है. ऐसे में पिछले चार महीनों से चल रहे रथ निर्माण को कार्य अब अंतिम पड़ाव में पहुंच चुका है. समिति के पदाधिकारी शेष को कार्य को समय पर पूरा करवाने का प्रयास कर रहे हैं, जिससे इस बार प्रभु अपने नए रजत रथ में सवार होकर नगर भ्रमण पर निकल सकें.

Reporter - अविनाश जगनावत