हनुमानगढ़: जिला चिकित्सालय में नहीं हैं डॉक्टर, किससे इलाज करवाएं मरीज?

चिकित्सालय में अल्ट्रासाउंड मशीन के खराब होने के कारण मरीजों को जांच बाहर से करवानी पड़ी, जिससे न केवल मरीजों को परेशानी हुई बल्कि उनको आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ा. 

हनुमानगढ़: जिला चिकित्सालय में नहीं हैं डॉक्टर, किससे इलाज करवाएं मरीज?
जिले के महात्मा गांधी राजकीय जिला चिकित्सालय के हालात बदतर हैं.

मनीष शर्मा, हनुमानगढ़: जिले के महात्मा गांधी राजकीय जिला चिकित्सालय के हालात बदतर हैं. हालात ये हैं कि न तो चिकित्सक समय पर आते हैं और न ही चिकित्सालय में सुविधाएं पूरी हैं. जिला चिकित्सालय के हालातों पर आज जी मीडिया की टीम ने रियलिटी चेक किया तो चिकित्सालय की बदहाल व्यवस्थाएं सामने आईं.

जी मीडिया की टीम सुबह 9 बजे जिला चिकित्सालय पहुंची तो पाया कि 10 बजने तक भी कई चिकित्सक ड्यूटी पर नहीं पहुंचे थे जबकि चिकित्सकों के पहुंचने का समय 9 बजे का होता है. इससे मरीज परेशान हो रहे थे और इनमें से अधिकतर मरीज जिले के दूर-दराज के इलाकों से आए थे. चिकित्सक समय पर नहीं पहुंचे थे, जिससे मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा. 

वहीं चिकित्सालय में अल्ट्रासाउंड मशीन के खराब होने के कारण मरीजों को जांच बाहर से करवानी पड़ी, जिससे न केवल मरीजों को परेशानी हुई बल्कि उनको आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ा. 

प्रमुख चिकित्सा अधिकारी ने किया डॉक्टरों का बचाव
जिला चिकित्सालय की रियलिटी चैक में जहां अव्यवस्थाएं खुलकर सामने आईं, वहीं जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. एमपी शर्मा का कहना है कि सभी चिकित्सक समय पर ही आते हैं मगर अधिकतर चिकित्सक 9 बजे आते ही चिकित्सालय में भर्ती मरीजों को देखने जाते हैं. ऐसे में उनको अपने कमरे में आने में समय लग जाता है. जिन कमरों में ताले लगे हैं, उन चिकित्सकों का यहां से तबादला हो चुका है. 

वहीं चिकित्सालय की खराब मशीनों के बारे में पीएमओ का कहना है कि इसके लिए उच्चाधिकारियों को सूचना दे दी गई है और आचार संहिता के कारण टेंडर भी नहीं हो सके, जिस कारण दिक्कत आ रही है.