बारां: पावर प्लांट ने फिर किया चारागाह भूमि पर अतिक्रमण, लाखों के पौधे नष्ट

पंचायत की ओर से उस भूमि पर चारागाह भूमि विकास फंड के तहत मनरेगा योजना से श्रमिक लगाकर जगह-जगह पर खाई निर्माण कर पौधरोपण किया गया था. 

बारां: पावर प्लांट ने फिर किया चारागाह भूमि पर अतिक्रमण, लाखों के पौधे नष्ट
कंपनी की ओर से इस भूमि पर राख डालने के बाद पौधों को भी नष्ट कर दिया गया.

राम मेहता/बारां: राजस्थान के भंवरगढ़ गांव के कुंदा रोड पर ग्राम पंचायत की चारागाह भूमि पर फिर से पावर कंपनी द्वारा कब्जा करने का मामला सामने आया है. भंवगरढ के कुंदा रोड पर स्थित ओरिएंट कंपनी की ओर से पावर प्लांट लगा रखा है. 

इसके पास ही ग्राम पंचायत की ओर से उसकी करीब 85 बीघा भूमि पर कुछ साल पहले पंचफल योजना के तहत करीब 14 लाख की राशि मनरेगा से प्रस्ताव लेकर क्लोजर बनाकर पौधरोपण किया था. इससे पहले हलका पटवारी व तहसीलदार की मौजूदगी में जमीन की पैमाइश कर ग्राम पंचायत भंवरगढ़ के सुपुर्द कर दी गई थी.

वहीं, पंचायत की ओर से उस भूमि पर चारागाह भूमि विकास फंड के तहत मनरेगा योजना से श्रमिक लगाकर जगह-जगह पर खाई निर्माण कर पौधरोपण किया गया था. लेकिन बरसात से पहले कंपनी की ओर से इस भूमि पर राख डालने के बाद पौधों को भी नष्ट कर दिया गया. इससे क्षेत्र के लोगों में रोष व्याप्त है. ग्राम पंचायत क्षेत्र के लोगों ने पंचायत प्रशासन से भूमि को कब्जे से मुक्त कराकर विकसित करने की मांग की है.

प्रशासन से मदद लेकर छुड़वाएंगे कब्जा
ग्राम विकास अधिकारी गौरव चैधरी चैधरी ने बताया कि 85 बीघा चरागाह भूमि पंचायत के अधीन की गई थी. जिस पर पंचायत की ओर से मनरेगा से गड्ढे करवाकर पौधे लगवाए गए थे. प्लांट प्रशासन की ओर से भूमि पर राख डालकर इसे फिर से अपने कब्जे में लेने की शिकायत मिली है. अब कंपनी को नोटिस देकर इससे भूमि से कब्जा हटाने के लिए कहा जाएगा. कंपनी की ओर से कब्जा नहीं हटाने पर प्रशासन से सहयोग लेकर भूमि से कब्जा हटाया जाएगा.