राजस्थान: बीजेपी की राजनीति से पूरा देश निराश- सचिन पायलट

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया तो उनके बयान पर देशभर में प्रतिक्रिया आई, जिसके बाद साध्वी ने बयान को वापस ले लिया लेकिन बीजेपी नेताओं ने इस पर ज्यादा कुछ नहीं कहा. 

राजस्थान: बीजेपी की राजनीति से पूरा देश निराश- सचिन पायलट
फाइल फोटो

जयपुर: सचिन पायलट ने भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर ऐतराज जताते हुए कहा कि सत्ताधारी पार्टी के नेता अगर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे को देशभक्त बता रहे हैं तो यह देश के लिए निराशाजनक है. देश में सातवें चरण के चुनाव के लिए प्रचार का शोर थमने से ठीक पहले राजस्थान के पीसीसी चीफ और उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बीजेपी नेताओं की बयानबाजी पर सवाल उठाए हैं. 

पायलट ने भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर ऐतराज जताते हुए कहा कि सत्ताधारी पार्टी के नेता अगर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे को देशभक्त बता रहे हैं तो यह देश के लिए निराशाजनक है. पायलट ने कहा कि बीजेपी के प्रमुख नेताओं ने इस बयान का विरोध करना तो दूर किसी ने इसकी निन्दा तक नहीं की.

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया तो उनके बयान पर देशभर में प्रतिक्रिया आई, जिसके बाद साध्वी ने बयान को वापस ले लिया लेकिन बीजेपी नेताओं ने इस पर ज्यादा कुछ नहीं कहा. पायलट ने कहा कि प्रज्ञा ठाकुर का बयान दर्भाग्यपुर्ण है. साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी का यह कहना कि इस बयान का पार्टी से कोई सम्बंध नही हैं, नाकाफी है, पायलट ने कहा कि जो राष्ट्रपिता के हत्यारें को देशभक्त बता रहे हैं. ऐसें लोगों को पार्टी से बाहर निकालना चाहिए.

पायलट ने कहा कि बीजेपी प्रत्येक चरण में पिछड़ रही है. जिसकी बौखलाहट मोदी और अमित शाह के भाषणों में साफ दिखाई दे रही हैं. पायलट ने कहा कि जिन राज्यों में साल 2014 में बीजेपी को बढ़त मिली थी, वहां इस बार बीजेपी को बड़ा नुकसान होगा. पश्चिम बंगाल की घटना को पायलट ने दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने की जांच होनी चाहिए. पायलट ने कहा कि पीएम की जिम्मेदारी बनती है कि ऐसी घटनाओं की निंदा की जाए लेकिन बिना तथ्यों के टीएमसी कार्यकर्ताओं की तुलना कश्मीर के पत्थरबाजों से करना गलत है. पायलट ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री का यह कहना कि टीएमसी के 40 विधायक उनके सम्पर्क में है. यह देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था के खिलाफ है.

इस दौरान पायलट ने कहा कि पहली बार चुनाव आयोग की विश्वसनियता पर सवाल उठ रहे हैं. पायलट ने कहा कि एक दिन पहले पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार पर रोक लगाना और पीएम की रैली के तुरंत बाद चुनाव आयोग की घोषणा सदिंग्ध है. पायलट ने कहा कि बिजेपी का झूठा राष्ट्रवाद जनता जान चुकी है. पायलट ने कहा कि देश में गैर बीजेपी, गैर एनडीए सरकार बनाना ही सभी दलों की पहली प्राथमिकता है. जिसके लिए सभी गैर एनडीए दलों को कांग्रेस साथ लाकर सरकार बनाएगी.