close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राहुल गांधी के बयान के बाद राजस्थान कांग्रेस में लगी इस्तीफे की होड़

हालांकि, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट 2 दिनों से दिल्ली में है और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की है लेकिन उनकी तरफ से अभी तक इस्तीफे की कोई पेशकश नहीं हुई है. 

राहुल गांधी के बयान के बाद राजस्थान कांग्रेस में लगी इस्तीफे की होड़
फाइल फोटो

जयपुर: लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी इस्तीफा देने पर अड़े हुए हैं. राहुल गांधी हार के लिए खुद को जिम्मेदार मान रहे हैं लेकिन उन्हें इस बात की भी तकलीफ है कि पहली सीडब्ल्यूसी बैठक में उनके इस्तीफे की पेशकश के बाद भी कांग्रेस शासित राज्यों में ना पीसीसी चीफ और ना मुख्य मंत्रियों ने इस्तीफे की पेशकश करने की जहमत उठाई. 
राहुल गांधी के बयान सामने आने के बाद अब कांग्रेस के पदाधिकारियों में इस्तीफे देने की होड़ लग गई है. शुक्रवार को दिल्ली में देशभर से कांग्रेस के अलग-अलग संगठनों के पदाधिकारियों की बैठक में 125 से अधिक पदाधिकारियों ने पार्टी को राहुल गांधी के समर्थन में इस्तीफे दे दिए. 

राजस्थान की अगर बात करें तो प्रदेश कांग्रेस सचिव जसवंत गुर्जर ने भी इसी बैठक में इस्तीफा सौंपा था और आज राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के सह प्रभारी देवेंद्र यादव ने भी प्रदेश प्रभारी महासचिव अविनाश पांडे को हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा सौंपा है. साथ ही राजस्थान के एआईसीसी चीफ तरुण कुमार ने भी कुछ देर पहले राहुल गांधी को अपना इस्तीफा दे दिया है. हालांकि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट 2 दिनों से दिल्ली में है और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की है लेकिन उनकी तरफ से अभी तक इस्तीफे की कोई पेशकश नहीं हुई है. 

राजस्थान में भी अभी केवल दो ही पदाधिकारियों ने इस्तीफे दिए हैं. ऐसे में अब यह उम्मीद की जा सकती है कि दोनों नेताओं के सामने आने के बाद प्रदेश कांग्रेस और कांग्रेस के अग्रिम संगठनों के पदाधिकारी भी राहुल गांधी के बयान को मध्य नजर रखते हुए अपने पद से इस्तीफे की पेशकश करेंगे लेकिन सवाल फिर वही कि आखिर कांग्रेस के बड़े नेताओं का इस्तीफा क्यों नहीं हो रहा है