राजस्थान: बरसात के कारण मण्डियों में आए अनाज हुए बर्बाद, किसान परेशान

हनुमानगढ़ जंक्शन और हनुमानगढ़ टाउन की धान मण्डियों में इस समय गेहूं की सबसे ज्यादा आवक है

राजस्थान: बरसात के कारण मण्डियों में आए अनाज हुए बर्बाद, किसान परेशान
धान मण्डियों में अब तक सैंकड़ों क्विंटल गेहूं की उपज पानी के कारण बर्बाद हो चुकी है

बीकानेर: हनुमानगढ़ जिले में दो दिनों से आ रही बरसात का सबसे ज्यादा खामियाजा किसानों को उठाना पड़ रहा है. इस समय जिले की धान मण्डियों में फसलों की बम्पर आवक है लेकिन बरसात के कारण किसानों की उपज भीगकर खराब हो रही है. किसान अपनी आंखों के सामने अपनी उपज बर्बाद होते हुए देख रहे हैं. 

हनुमानगढ़ जंक्शन और हनुमानगढ़ टाउन की धान मण्डियों में इस समय गेहूं की सबसे ज्यादा आवक है. वहीं कृषि उपज मण्डी समिति की लापरवाही के चलते ना तो किसानों को बरसात से बचने के लिए तिरपाल ही उपलब्ध हो रहे हैं और ना ही मण्डी समिति ने समय रहते अतिरिक्त शेड बनवाने का कोई प्रयास किया. 

इस कारण धान मण्डियों में अब तक सैंकड़ों क्विंटल गेहूं की उपज पानी के कारण बर्बाद हो चुकी है. वहीं रात को मच्छरों की मार सहते हुए किसान कई दिनों से धान मण्डियों में अपनी फसल बेचने के लिए बैठे है और दो दिनों से आ रही बरसात ने उनके सभी सपनों पर पानी फेर दिया. इस पर जिम्मेदार व्यवस्थाएं पूरी करने की बजाय टालमटोल की नीति अपना रहे हैं. वहीं कृषि उपज मंडी समिति चेयरमैन भी रटा रटाया जवाब दे रहे हैं. 

वहीं छीपाबड़ौद उपखंड के हरनावदाशाहजी उपतहसील क्षेत्र में बुधवार तड़के ओलावृष्टि के साथ आए तुफान ने भारी नुकसान पंहुचाया. कच्चे मकान धराशायी हो गए. खबर के मुताबिक सुबह पांच बजे अचानक से ओलावृष्टि शुरू हुई जिससे कई गांवों में फसलों को भारी नुकसान पंहुचाया. 

ग्रामीणों का कहना है कि ओलों का आकार इतना बड़ा था कि दिन का समय होता तो कई लोग घायल होते. जबकि सीमेंट की चादर वाले मकान छत विहिन हो गए. अमरपुरा गांव में दो घरों के लोगों के टीन टप्पर नष्ट होने से बेघर के हालात बन गए जिन्हे पडोसियों ने सहारा दिया. उपखंड अधिकारी रामावतार बरनाला ने क्षेत्र में हुए नुकसान की पुष्टि करते हुए बताया कि प्रभावित गांवों का दौरा तहसीलदार के साथ करके हालात का जायजा लेंगे व पीडितों को सहायता के लिए प्रयास करेंगे.