close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: यूनिवर्सिटी स्टाफ ने छात्र के साथ आए युवकों को बेरहमी से पीटा, Video वायरल

इस मामले में यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने भी युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दी. जिसके बाद दोनों घायल युवकों को भी शांतिभंग में गिरफ्तार किया है. 

राजस्थान: यूनिवर्सिटी स्टाफ ने छात्र के साथ आए युवकों को बेरहमी से पीटा, Video वायरल
मामले में यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने भी युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दी.

झुंझुनूं: राजस्थान के झुंझुनूं में स्थित जेजेटी यूनिवर्सिटी में स्टाफ द्वारा दो युवकों के साथ मारपीट करने का वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो को देखे तो दोनों युवकों को किसी हैवान की तरह पीटा जा रहा है. जबकि पीटने वाले कोई और नहीं बल्कि यूनिवर्सिटी के हैं. जो यहां पर ना केवल नैतिक शिक्षा का पाठ पढ़ाते है. बल्कि कानून की पालना करने की भी शिक्षा देते हैं. 

दरअसल, जेजेटी यूनिवर्सिटी चुड़ैला में पढ़ने वाले बीएससी के छात्र आनंदकुमार को रविवार के दिन बेवजह ही किसी टीचर ने डांट दिया था. जिसके बाद आनंदकुमार का भाई अमन तथा उसका दोस्त सुरेश यूनिवर्सिटी में उलाहना देने के लिए आए. उलाहना देने आए आनंदकुमार के भाई अमन और उसके दोस्त के साथ भी स्टाफ ने बदसलूकी की. जिसके बाद तीनों वहां से चले गए लेकिन कुछ देर बाद यूनिवर्सिटी की प्रो वोस्ट निधि यादव तथा लेक्चरर अरूण अपने स्टाफ सदस्यों के साथ तीनों के पीछे आए और इनसे रास्ते में मारपीट करने लगे. 

डर के मारे आनंदकुमार वहां से भाग गया और अमन व सुरेश इनके हत्थे चढ़ गए. जिसके बाद दोनों को यूनिवर्सिटी लाया गया और बेरहमी के साथ बंधक बनाकर जबरदस्त मारपीट की गई. इस मारपीट का वीडियो किसी अन्य छात्र ने बनाकर वायरल कर दिया. जिसमें निधि यादव और अरूण मारपीट करते हुए साफ दिखाई दे रहे हैं. मारपीट इस बर्बरतापूर्ण तरीके से की गई कि जिस लाठी से पीटा जा रहा था वो भी टूटने लगी. वहीं मारपीट में अमन की नाक टूट गई. इस मामले का वीडियो वायरल होने के बाद सदर पुलिस ने कार्रवाई की तो वो भी नाम मात्र की और दोनों स्टाफ सदस्यों को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. 

हालांकि, इस मामले में यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने भी युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दी. जिसके बाद दोनों घायल युवकों को भी शांतिभंग में गिरफ्तार किया है. बहरहाल, चाहे गलती किसी की भी हो लेकिन एक यूनिवर्सिटी के शिक्षित स्टाफ द्वारा इतनी बेहरमी से मारपीट करना कई सवाल पैदा करता है. साथ ही मानवाधिकार का भी पूरी तरह से हनन है. इस मामले में पुलिस जहां जांच करने की बात कह रही है. वहीं यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने चुप्पी साध ली है.