close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारां: भीषण गर्मी के साथ बढ़ा पेयजल संकट, 5 किलोमीटर दूर मिल रहा पानी

बारां जिले में गर्मी बढ़ने के साथ पेयजल संकट गहराने के कारण मवेशी, पशु, पक्षी और आम लोग परेशान हैं.

बारां: भीषण गर्मी के साथ बढ़ा पेयजल संकट, 5 किलोमीटर दूर मिल रहा पानी
13 हजार हैंडपंप जिले में मौजूद हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

बारां: बारां जिले में गर्मी बढ़ने के साथ पेयजल संकट गहराने लगा है. जिससे निपटने के लिए आम लोगो को 5 किलोमीटर दूर जाकर पीने का पानी लाना पड़ रहा है. जिस कारण मवेशी, पशु, पक्षी और आम लोग परेशान हैं. वही, बड़ी संख्या में लोग निजी नलकूपों से पानी खरीद कर प्यास बुझा रहे हैं.

जिले में कई जगह हाथ के ठेलों, बाइक और साइकिलों पर लोग काफी दूर से पानी लाकर प्यास बुझा रहे हैं. इस दौरान पास के कुओं पर भी पानी भरने के लिए भीड़ लगी रहती है. वहीं, बारां शहर में कई जगह लोग दो सौ रूपये प्रति माह में पानी खरीद कर प्यास बुझा रहे है. आपको बता दें कि इस साल जिले में अच्छी बारिश होने के बाद भी बारां जिले में भीषण गर्मी के कारण पानी का संकट गहराया है.

जलदाय विभाग के पास 13 हजार हैंडपंप जिले में मौजूद हैं. जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में 8243 हैंडपंप लगे हुए हैं. इनमें से सैकड़ों हैंडपंप में मोटर लगाकर लोगों को पेयजल उपलब्ध करवाया जा रहा है. लेकिन हैंडपंपों के खराब होने से पेयजल को लेकर परेशानी बढ़ रही है. इन हैंडपंपों को सही करने के लिए 55 हैंडपंप मिस्त्री उपलब्ध हैं. 

एक अप्रैल से अभियान चलाए जाने के बावजूद गांवों में पानी की दिक्कत बनी हुई है. इसके साथ ही पर्याप्त मिस्त्री नहीं मौजूद होने से ग्रामीण हैंडपंप को दुरुस्त कराने के लिए कार्यालय के चक्कर काटते रहते हैं. जिले में पिछले सरकार के समय प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में 100-100 हैंडपंप लगाए गए थे. इसके बावजूद आम लोगों को राहत मिलते नहीं दिख रही है. विभागीय सूत्रों के अनुसार जिले के ग्रामीण क्षेत्र में 8243 हैंडपंप हैं.