पुलवामा हमले से कुछ समय पहले जवान ने कहा था 'पैसों के लिए नहीं करते नौकरी'

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में नारायण लाल गुर्जर कह रहे हैं, कुछ लोग मेरा सुख-चैन छीनने की कोशिश कर रहे हैं. 

पुलवामा हमले से कुछ समय पहले जवान ने कहा था 'पैसों के लिए नहीं करते नौकरी'
गुरुवार को हुए इस हमले में सीआरपीएफ के 44 से ज्यादा जवान शहीद हो गए.
Play

जयपुर: पुलवामा में गुरुवार को सीआरपीएफ जवानों पर हुए आतंकी हमले में शहीद हुए राजस्थान के नारायण लाल गुर्जर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. नारायण लाल गुर्जर ने यह वीडियो अपनी ड्यूटी वापस ज्वाइन करने से पहले बनाया था. अपने इस वीडियो में वह सैनिकों को परेशान करने वाले या यूं कहें कि आतंकवादियों की ओर इशारा कर रहे हैं और जनता से अपील कर रहे हैं कि वो इस तरह से सैनिकों को परेशान करने वाले लोगों को सबक सिखाएं.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में नारायण लाल गुर्जर कह रहे हैं, कुछ लोग मेरा सुख-चैन छीनने की कोशिश कर रहे हैं. इसलिए मैं से अनुरोध कर रहा हूं कि जिस तरह हम उग्रवादियों से जूझ रहे हैं उस तरह से आप भी उन लोगों को ढूंढिए. उन्होंने आगे कहा, पिछले तीन सालों से हमने अपने अपने कई साथियों को खोया. 

उन्होंने कहा, सभी देशवासी जानते हैं कि हम यहां क्यों काम कर रहे हैं. अगर आपको लगता है कि हम यह पैसों के लिए कर रहे हैं तो भी आप खुद से यह सवाल कीजिए और हमारे साथ उन लोगों को खोजने में मदद करीए. अपने बारे में बात करते हुए नारायण बोले, मैं पिछले 15 सालों से सैना में हूं जिसमें से मेरे 9 साल जम्मू कश्मीर में ही बीते. उन्होंने कहा, यह हमारी ड्यूटी है, हमारा काम है. इससे मैं परेशान नहीं हूं लेकिन कुछ लोग मेरा सुख-चैन छीनने की कोशिश कर रहे हैं. 

आपको बता दें, गुरुवार को हुए इस हमले में केंद्रीय आरक्षित पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 44 से ज्यादा जवान शहीद हो गए. कई अन्य घायल हुए हैं. जैश के एक आत्मघाती हमलावर ने पुलवामा जिले में सीआरपीएफ की एक बस में विस्फोटक लदे वाहन से टक्कर मार दिया. जिससे हुए विस्फोट में जवान शहीद हुए हैं.