जयपुर: जल संकट को लेकर गहलोत सरकार ने कसी कमर, अब हर घर तक पहुंचेगा पानी

जल जीवन मिशन के अंतर्गत प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में वर्ष 2024 तक घरेलू जल संबंधों द्वारा पेयजल उपलब्ध करवाया जाएगा.

जयपुर: जल संकट को लेकर गहलोत सरकार ने कसी कमर, अब हर घर तक पहुंचेगा पानी
जल संबंध का व्यय ग्रामवासियों को समिति के बैंक खातों में जमा कराना होगा.

जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) में अगली गर्मियों तक गांवों में पानी पहुंचाने के लिए गहलोत सरकार तेजी से आगे बढ़ रही है. प्रदेश में जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) के तहत प्रथम चरण में राज्य सरकार द्वारा 25 ग्रामीण योजनाओं की क्रियान्विति के लिए 96.49 करोड़ रुपये की स्वीकृति जारी की गई है. 

जल जीवन मिशन के अंतर्गत प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में वर्ष 2024 तक घरेलू जल संबंधों द्वारा पेयजल उपलब्ध करवाया जाएगा. इसके अलावा विभाग की 12 प्रगतिरत तथा 11 पूर्ण वृहद् योजनाओं में भी अतिरिक्त स्वीकृति जारी कर घरेलू जल संबंध जारी करने का निर्णय लिया गया है. इन योजनाओं पर लगभग दो हजार करोड़ रुपये का व्यय कर 3700 ग्रामों और 7200 ढाणियों में स्थित लगभग आठ लाख परिवारों को घरेलू जल संबंधों से लाभान्वित किया जाएगा.

क्या कहना है जलदाय मंत्री बीडी कल्ला का 
जलदाय मंत्री बीडी कल्ला का कहना है कि ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलू जल संबंध ग्राम स्तरीय जल एवं स्वच्छता समिति के माध्यम से जारी किए जाएंगे. जल संबंध का व्यय ग्रामवासियों को समिति के बैंक खातों में जमा कराना होगा. भविष्य में प्रदेश के गांवों में सिस्टम के रखरखाव का कार्य ग्राम स्तरीय जल एवं स्वच्छता समिति द्वारा ही किया जाएगा.

जल जीवन मिशन के अंतर्गत विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन, स्वीकृत योजनाओं की सूची एवं लाभान्वित होने वाले ग्रामों की सूची शीघ्र ही विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध कराई जाएगी यानी अब अब हर घर तक पानी पहुंचाने का काम राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा लेकिन अब देखना यह होगा कि बजट स्वीकृति के बाद जमीनी स्तर पर विभाग के इंजीनियर काम कब शुरू करेंगे क्योंकि राजस्थान का बडा ग्रामीण इलाका ऐसा है, जहां आज तक पानी की एक बूंद तक नहीं पहुंच पाती.