जैसलमेर: राजस्थान को घूंघट मुक्त बनाने के लिए सरकार ने उठाया कदम, हुई अभियान की शुरुआत

जैसलमेर जिला मुख्यालय स्थित शहीद पूनमसिंह स्टेडियम में महिला सशक्तिकरण सम्मेलन एवं लाडो सम्मान समारोह आयोजित किया गया.   

जैसलमेर: राजस्थान को घूंघट मुक्त बनाने के लिए सरकार ने उठाया कदम, हुई अभियान की शुरुआत
महिला सशक्तिकरण सम्मेलन एवं लाडो सम्मान समारोह

जैसलमेर: जिला मुख्यालय स्थित शहीद पूनमसिंह स्टेडियम में महिला सशक्तिकरण सम्मेलन एवं लाडो सम्मान समारोह आयोजित किया गया. बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के अन्तर्गत महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से समारोह आयोजित किया गया. कार्यक्रम में राजस्थान सरकार के कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद, जिला कलेक्टर नमित मेहता और विधायक रूपाराम धणदे समेत कई जनप्रतिनिधियों-अधिकारियों ने हिस्सा लिया. कार्यक्रम में सहित बड़ी संख्या में जिले की नारी शक्ति ने भी हिस्सा लिया। 

कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत सरस्वती पूजा के साथ की गयी. उसके बाद सभी अतिथियों का स्वागत किया गया. कार्यक्रम में आईएम शक्ति प्रोत्साहन योजना के तहत कक्षा दसवीं एवं बारहवीं में प्रतिभाशाली एवं उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली बालिकाओं को सम्मानित किया गया.  

कार्यक्रम के दौरान घूंघट मुक्त जैसाण अभियान के पोस्टर का विमोचन कर इस अभियान का आगाज किया गया. कार्यक्रम में घूंघट में आयी महिलाओं ने घूंघट हटा इसे सफल बनाने का वादा किया. इस दौरान सभी वक्ताओं ने महिला सशक्तिकरण के संबंध में अपने विचार साझा किए और महिलाओं से संबंधित राज्य एवं केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी भी दी.

मंत्री सालेह मोहम्मद ने कार्यक्रम के दौरान बाड़मेर की रुमा देवी का जिक्र करते हुए कहा कि जैसलमेर की महिलाओं द्वारा चलाये जा रहे स्वयं सहायता समूहों को उनकी रूचिकर विषयों के अंतर्गत प्रयास करने चाहिए. वहीं जैसलमेर पुलिस अधीक्षक किरण कंग, जिला प्रमुख अंजना मेघवाल, सम समिति प्रधान उषा भाटी ने कहा कि देश में 50 प्रतिशत महिलाएं हैं और देश के विकास में भी हमारा इतना ही हिस्सा है. इसलिए महिलाओं को आगे आकर विभिन्न क्षेत्रों में अपना योगदान देना चाहिए.