close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर आयोजित कार्यशाला के दौरान सुझावों पर हुई चर्चा

कार्यशाला में प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी के अलावा प्रशासनिक अधिकारी के साथ सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति और शिक्षा विशेषज्ञों ने भाग लिया.

राजस्थान: राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर आयोजित कार्यशाला के दौरान सुझावों पर हुई चर्चा
उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा की शिक्षा में राजनीति नहीं होने की बात कही.

जयपुर: राष्ट्रीय शिक्षा नीति में बदलाव के लिए केन्द्र सरकार ने ड्राफ्ट तैयार कर सभी प्रदेशों से आपत्ति मांगी है. इसी कड़ी में राजस्थान को भी 31 जुलाई तक इस ड्राफ्ट पर आपत्ति पेश करनी है. प्रदेश की उच्च शिक्षा विभाग ने एक कार्यशाला का आयोजन बुधवार को जयपुर में किया.

कार्यशाला में प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी के अलावा प्रशासनिक अधिकारी के साथ सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति और शिक्षा विशेषज्ञों ने भाग लिया. इस दौरान ड्राफ्ट को लेकर कई सुझाव दिए गए. 

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के ड्राफ्ट चर्चा के दौरान उच्च शिक्षा सचिव वैभव गालरिया भी मौजूद थे. गालरिया ने बताया कि शिक्षा नीति के ड्राफ्ट को लेकर कई सुझाव प्राप्त हुए हैं और आज हुई कार्यशाला में इन सुझावों पर चर्चा की गई है. इन सुझावों के आधार पर एक प्रस्ताव तैयार कर केन्द्र को भेजा जाएगा. 

लाइव टीवी देखें-:

इसके साथ निजी और सरकारी शिक्षा विशेषज्ञों, कुलपतियों और प्रोफेसरों से भी इस संबंध में चर्चा की गई. कार्यशाला के दौरान उच्च शिक्षा विभाग में होने वाले बदलाव के संबंध में चर्चा हुई है. इस दौरान कार्यशाला में मौजूद कुलपतियों और शिक्षा विशेषज्ञों ने उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी के सामने भी कई प्रस्ताव रखे.

उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा की शिक्षा में किसी भी प्रकार की राजनीति नहीं होनी चाहिए. इस मसले पर केन्द्र और प्रदेश सरकारों को मिलकर काम करना चाहिए.