पति ने निकाह के 16 साल बाद पत्नी को दिया ट्रिपल तलाक, हैरान करने वाली है वजह

पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर उसके पति इदरीश समेत 5 ससुरालियों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न और महिला विवाह अधिकार अधिनियम 2019 के तहत केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. पीड़िता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मदद की गुहार लगाई है. 

पति ने निकाह के 16 साल बाद पत्नी को दिया ट्रिपल तलाक, हैरान करने वाली है वजह
(फाइल फोटो)

संभल: उत्तर प्रदेश (Utter Pradesh) के संभल (Sambhal) जिले से ट्रिपल तलाक (Triple Talaq) का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहां शख्स ने अपनी पत्नी को निकाह के 16 साल बाद सिर्फ इसलिए तलाक दे दिया क्योंकि उसे कोई संतान नहीं हुई. पुलिस ने पीड़ित महिला की शिकायत पर तलाक देने के आरोपी शख्स के खिलाफ दहेज उत्पीड़न और महिला विवाह अधिकार अधिनियम  2019 के तहत केस दर्ज कर लिया है. मामले की जांच की जा रही है. पीड़ित महिला ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से भी मदद की गुहार लगाई है.

संभल के नखासा थाना क्षेत्र के हातिम सराय इलाके की रहने वाली पीड़िता रूबी ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में बताया कि उसका निकाह वर्ष 2004 में सिरसी के गिन्नौरी मोहल्ले के इदरीश के साथ हुआ था. निकाह में उसके परिजनों ने अपने सामर्थ्य के अनुसार दहेज भी दिया. लेकिन निकाह के कुछ महीने बाद से ही इदरीश ने पीड़िता के साथ मारपीट करनी शुरू कर दी. उसे निकाह में कम दहेज मिलने के ताने भी दिया करता था. 

ये भी पढ़ें- इन महिलाओं ने लड़ी 'ट्रिपल तलाक' की लड़ाई, पढ़ें नारी शक्ति के संघर्ष की कहानी

महिला ने कहा कि इस बीच इदरीश ने उसे अपने घर से भी निकाल दिया. ससुराल से निकाले जाने के बाद से महिला अपने मायके में रह रही थी. लेकिन 5 जुलाई को इदरीश उसके मायके पहुंच गया और एक लाख रुपये की मांग करने लगा. महिला का आरोप है कि उसके पति ने बच्चा पैदा न होने का ताना देते हुए उसके साथ मायके में मारपीट की. जब महिला ने मारपीट का विरोध किया तो इदरीश उसे तीन बार तलाक बोलकर गाली गलौज करते हुए चला गया.
 
ट्रिपल तलाक पीड़िता रूबी ने नखासा थाने में अपने पति इदरीश के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है. पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर उसके पति इदरीश समेत 5 ससुरालियों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न और महिला विवाह अधिकार अधिनियम 2019 के तहत केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. पीड़िता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मदद की गुहार लगाई है.