Video: वृक्षारोपण के लिए गांव पहुंची महिला अफसर पर TRS कार्यकर्ताओं ने बरसाए जूते-चप्पल और लाठियां

Video: वृक्षारोपण के लिए गांव पहुंची महिला अफसर पर TRS कार्यकर्ताओं ने बरसाए जूते-चप्पल और लाठियां

वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि कैसे ट्रैक्टर पर खड़ी महिला अफसर लोगों को शांत कराने की कोशिश कर रही है पर समिति के कार्यकर्ताओं ने उस पर जूते-चप्पल और पत्थर फेंकना शुरू कर दिया.

Video: वृक्षारोपण के लिए गांव पहुंची महिला अफसर पर TRS कार्यकर्ताओं ने बरसाए जूते-चप्पल और लाठियां

नई दिल्लीः तेलंगाना के कोमाराम भीम आसिफाबाद जिले के सिरपुर कागजनगर ब्लॉक में तेलंगाना राष्ट्र समिति के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे समिति के कार्यकर्ता एक वन विभाग की एक महिला अफसर पर लाठियां और जूते चप्पल बरसा रहे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक आसिफाबाद जिले के सिरपुर कागजनगर ब्लॉक में पुलिस और फॉरेस्ट गार्ड की एक टीम वृक्षारोपण अभियान के लिए सिरपुर कागजनगर ब्लॉक पहुंची थी, जहां तेलंगाना राष्ट्र समिति के कार्यकर्ताओं और पुलिस में किसी बात को लेकर बहस हो गई और कार्यकर्ताओं ने ग्रामीणों के साथ मिलकर पुलिस पर जूते-चप्पल और लाठियां बरसाना शुरू कर दिया.

वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि कैसे ट्रैक्टर पर खड़ी महिला अफसर लोगों को शांत कराने की कोशिश कर रही है पर समिति के कार्यकर्ताओं ने उस पर जूते-चप्पल और पत्थर फेंकना शुरू कर दिया. वन विभाग की महिला अफसर कार्यकर्ताओं के इस हमले से बचने की कोशिश करती है, लेकिन गुस्साए कार्यकर्ता उस पर लाठियां बरसाना शुरू कर देते हैं. जिससे महिला के हाथ-पैर और सिर पर कई चोटें आई हैं. बता दें वीडियो में जो महिला अफसर है, उनका नाम अनीता है और वह पुलिस और फॉरेस्ट पुलिस के साथ वृक्षारोपण के अभियान के तहत सरसाला गांव पहुंची थीं, जहां उन्हें ग्रामीणों के गुस्से का शिकार होना पड़ा.

तेलंगाना में पहुंचकर कमजोर पड़ा मानसून, 29-30 जून को हो सकती है भारी बारिश

घटना के बाद पुलिस और वन विभाग के अधिकारी इस पूरे मामले की जांच में लग गए हैं और इसके पीछे जिम्मेदार लोगों की तलाश कर रहे हैं. बता दें इस हमले में वन विभाग की महिला अधिकारी अनीता को कई गंभीर चोटें आई हैं, जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उनका इलाज चल रहा है. पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि गांव के लोगों को तेलंगाना राष्ट्रीय समिति के लीडर कोनेरू कृष्णा ने ऐसा करने के लिए उकसाया था. कोनेरू कृष्णा क्षेत्र में खासा दबदबा रखने वाले विधायक कोनेरू कोनप्पा के भाई हैं.

Trending news