close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

संक्रामक रोगों से हुई मौतों के बाद ज़ी मीडिया की खबर पर सीतापुर पहुंचे अपर निदेशक

ज़ी मीडिया से बातचीत करते हुए अपर निदेशक चिकित्सा एवं परिवार कल्याण डॉक्टर संजीव कुमार ने बताया संक्रामक से जो मौतें हुई हैं वह केवल 3 मौतें हैं.

संक्रामक रोगों से हुई मौतों के बाद ज़ी मीडिया की खबर पर सीतापुर पहुंचे अपर निदेशक
सीतापुर में हुई मौतें. फाइल फोटो

सीतापुर (राजकुमार दीक्षित) : यूपी के सीतापुर में संक्रामक रोगों ने पांव पसार रखे हैं. ज़ी मीडिया पर खबर दिखाए जाने के बाद लखनऊ मंडल के अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण गोंदलामऊ ब्लॉक में पहुंचे और उन्होंने सैदापुर गांव का निरीक्षण किया इस गांव में बुखार से पीड़ित मरीजों का हाल जाना. ज़ी मीडिया से बातचीत करते हुए अपर निदेशक चिकित्सा एवं परिवार कल्याण डॉक्टर संजीव कुमार ने बताया संक्रामक से जो मौतें हुई हैं वह केवल 3 मौतें हैं. अन्‍य जिले में अलग-अलग बीमारियों से अब तक 18 मौतें हो चुकी हैं. 

गोंदलामऊ ब्लॉक में ही 2500 लोग बुखार से पीड़ित हैं. अपर निदेशक चिकित्सा एवं परिवार कल्याण और सीएससी अधीक्षक ने सैदापुर गांव जाकर संक्रामक बुखार से पीड़ित मरीजों का हाल जाना और दवाइयां वितरित कराई.

देखें LIVE TV

सीतापुर के गोंदलामऊ, मिश्रिख और मछरेहटा ब्लॉक के लगभग 50 गांव में 2500 लोग बुखार से पीड़ित हैं अब तक जिले में 18 मौतें हो चुकी हैं. स्वास्थ्य टीमें प्रभावित गांव में दवा वितरण कर रही हैं जी मीडिया ने ग्राउंड जीरो पर जाकर संक्रामक रोग से पीड़ित मरीजों से बात की मरीजों का कहना है की बुखार से पूरा गांव पीड़ित है डॉक्टर आते हैं दवाई देकर चले जाते हैं.

जब हम लोगों को सरकारी दवाई से फायदा नहीं होता तो हम लोग प्राइवेट अस्पताल में जाकर भी दवाई ले रहे हैं. बुखार से पीड़ित मरीजों ने माना की दवाई तो मिल रही है लेकिन बुखार दवा खाने के बाद उतर जाता है और फिर आ जाता है पूरे गांव का यही हाल है. गांव के अंदर तालाब है इस तालाब में गंदगी की भरमार है. जिसकी वजह से कई गांव वालों को मच्छरों के काटने से मलेरिया भी हो गया है.

गोंदलामऊ ब्लॉक में वायरल बुखार फैला हुआ है. वहीं आज गोंदलामऊ ब्लॉक में 5 माह की गर्भवती महिला की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. महिला के परिजनों ने बताया कि महिला को 3 दिन पहले बुखार आया था जिसके बाद इसका इलाज चल रहा था गोंदलामऊ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाते समय रास्ते में ही महिला ने दम तोड़ दिया. इस ब्लॉक में मौतों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है अधिकारी दावे पर दावे किए जा रहे हैं.