close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बाराबंकी जहरीली शराबकांड : अब तक 17 की मौत, 300 पेटी अवैध शराब बरामद

जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है. इनके अलावा 44 अन्‍य बीमार अभी भी केजीएमसी लखनऊ में भर्ती हैं.

बाराबंकी जहरीली शराबकांड : अब तक 17 की मौत, 300 पेटी अवैध शराब बरामद
अवैध शराब बरामद. फोटो ANI

नई दिल्‍ली : बाराबंकी जिले के रामनगर क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है. इनके अलावा 44 अन्‍य बीमार अभी भी केजीएमसी लखनऊ में भर्ती हैं. इस घटना के बाद प्रदेश भर में अवैध शराब तस्‍करों के खिलाफ छापेमारी अभियान जारी है. इसी क्रम में यूपी एसटीएफ ने बाराबंकी में बुधवार रात अंतरराज्‍यीय शराब तस्‍कारों को गिरफ्तार किया है. उनके पास से करीब 300 पेटी अवैध शराब बरामद की गई है.

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक अजय साहनी ने बुधवार शाम एक बयान में बताया कि जहरीली शराब से मरने वालो की संख्या अब 17 पहुंच गई है. पुलिस ने बताया, 'सोमवार रात जब शराब हादसा हुआ था उस दिन दो अन्य व्यक्तियों की मौत भी हुई थी लेकिन परिजनों ने इनका अंतिम संस्कार बिना पोस्टमार्टम कर दिया. परिजनों का दावा है कि इनकी मौत भी शराब पीने से हुई है. लेकिन पुलिस का कहना है कि मौत के असली कारणों का पता विस्तृत और गहन जांच के बाद ही चलेगा.


दो तस्‍कर गिरफ्तार. फोटो ANI

इस बीच बुधवार सुबह जहरीली शराब काण्ड के मुख्य आरोपी पप्पू जायसवाल को पुलिस मुठभेड़ के बाद पकड़ लिया गया. बाद में दूसरे अभियुक्त दानवीर सिंह और इस मामले में संलिप्त पाए गए आबकारी निरीक्षक राम तीर्थ मौर्य को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. इस मामले की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिये गये हैं और यह जांच मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में होगी.

देखें LIVE TV

किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज ट्रामा सेंटर के प्रभारी डॉ. संदीप तिवारी ने बुधवार को 'भाषा' को बताया कि ट्रामा सेंटर में अब तक 47 रोगी लाये गये थे जिसमें से 44 अब भी भर्ती हैं जिनमें से 10 रोगी गंभीर होने के कारण आईसीयू में भर्ती हैं. उन्होंने मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका से इंकार नहीं किया. डॉ. तिवारी ने बताया कि अब तक आठ रोगियों की डायलिसिस केजीएमसी में हुई जबकि चार रोगियों की डायलिसिस बलरामपुर अस्पताल में हुई है.