close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शामली में भू-माफिया का आतंक, 700 परिवार पूरी कॉलोनी छोड़ने को मजबूर

स्थानीय लोगों का आरोप है कि भू माफिया ने जबरदस्ती हमारी कॉलोनी में रास्ता निकाल दिया, जिसकी शिकायत हम लोगों ने उच्चाधिकारियों से की लेकिन कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हुई.

शामली में भू-माफिया का आतंक, 700 परिवार पूरी कॉलोनी छोड़ने को मजबूर
लोगों का आरोप है कि भू माफिया ने जबरदस्ती हमारी कॉलोनी में रास्ता निकाल दिया है. फोटो

शामली: शामली की सदर कोतवाली क्षेत्र के सिटी में  भू-माफिया के आतंक के चलते एक 700 परिवारों की पूरी कॉलोनी ने अपने मकान बेचने के लिए निकाल दिए हैं. भू-माफियाओं के आतंक से पूरी कॉलोनी के मकान बिकाऊ होने की सूचना मिलते ही सदर एसडीएम और सीओ स्थानीय लोगों को समझाने में जुट गई है जबकि स्थानीय लोगों का आरोप है कि भू माफिया ने जबरदस्ती हमारी कॉलोनी में रास्ता निकाल दिया, जिसकी शिकायत हम लोगों ने उच्चाधिकारियों से की लेकिन कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हुई. वहीं अब सदर एसडीएम जांच के बाद कानूनी कार्रवाई किए जाने की बात बोल रहे हैं.

प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद बनाई गई एंटी भू-माफिया टीम बनाने के बाद भी कोई भी कानूनी कार्रवाई होती नहीं दिख रही है. जनपद में एंटी भू-माफिया टीम होने के बाद भी भू-माफिया का आतंक शामली जनपद के सदर कोतवाली क्षेत्र में जारी है, जिसके चलते सैकड़ों परिवार अपना मकान बेचकर जाने पर मजबूर हैं.

भू-माफिया के द्वारा बनाई गई कालोनियों के रास्ते को जबरन निकलने को लेकर स्थानीय लोगों ने आपत्ति जताई थी जिसको लेकर उन्होंने डीएम एसपी सहित अन्य अधिकारियों को भी शिकायत की थी. जिसमें काफी समय बीत जाने के बाद भी कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हुई. अधिकारियों के सुस्त रवैये और भू-माफियाओं के खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई न होने से नाराज सदर कोतवाली क्षेत्र के सिटी के झिंझाना रोड स्थित टीचर्स कॉलोनी के करीब 700 परिवार ने अपने घर के बाहर   भू माफियाओं का आतंक के चलते मकान बिकाऊ है ,पोस्टर चिपकाते हुए मकान बेचना निकाल दिया है.

एक साथ पूरी कॉलोनी के मकान बिकाऊ होने की सूचना पर पूरे जनपद में हड़कंप मच गया तो वहीं मौके पर अधिकारियों ने पहुंचकर आरोपी भू-माफिया के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के बजाय पीड़ित लोगों को समझाना शुरू किया. वहीं इस मामले में मौके पर पहुंचे सदर एसडीएम सुजीत कुमार का कहना है कि यह सदर कोतवाली क्षेत्र के झिंझाना रोड स्थित टीचर्स कॉलोनी है, जहां पर मकानों के बाद यह मकान बिकाऊ है कि पोस्टर लगे हुए इसमें जांच की जा रही है. जल्दी मामले का निस्तारण किया जाएगा और भू माफियाओं के बारे में भी जानकारी की जा रही है. उनके खिलाफ भी उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

उधर, प्रदेश में बीजेपी सरकार बनी थी. वहीं लड़कियों की सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो और भू-माफिया के लिए एंटी भू-माफिया टीम का गठन किया गया था लेकिन यह गठन केवल नाम मात्र ही है क्योंकि जनपद में भू-माफिया के आतंक के चलते एक पूरी पौश कॉलोनी अपने मकान बेचने को मजबूर है वहां के रहने वाले लोगों का आरोप है कि सनी नाम का भू माफिया ने बाग खरीद कर जबरदस्ती उसका रास्ता हमारी कॉलोनी में निकालना चाहता है जिसके बारे में हम लोगों ने उच्च अधिकारियों को शिकायत की थी लेकिन आज तक कोई भी कानूनी कार्रवाई इसमें नहीं की गई.

उसी के चलते हम लोग अपना सलाह मशवरा करते हुए पूरी कॉलोनी के लोगों ने अपने अपने मकान बेचने निकालते हैं. स्थानीय लोगों का आरोप है कि सनी जैन नाम के भू-माफिया ने शामली के चारों तरफ वन विभाग के अधिकारियों से मिलकर हरे भरे पेड़ कटवा दिए. जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री वृक्षारोपण के ऊपर लाखों करोड़ों रुपए खर्च कर रहे हैं हम लोग इन पेड़ पौधों को बचाने के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं और यह अवैध तरीके से निकाल के रस्ते के बाद हमारी कॉलोनी में चेन स्नेचिंग और महिलाओं के साथ छेड़छाड़ के मामले भी बढ़ेंगे. इस कॉलोनी में सभी लोग गवर्नमेंट कर्मचारी हैं, जो अपनी फैमिली को सेफ रखने के लिए अपने आसपास इस तरीके की चीजें चाहते हैं.