close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अखिलेश-शिवपाल नहीं आएंगे साथ, आदित्‍य यादव ने चर्चाओं को बताया अफवाह

पीएसपीएल के राष्‍ट्रीय महासचिव आदित्‍य यादव ने गुरुवार को कहा कि दोनों के साथ आने की खबरें महज अफवाह हैं. सपा और पीएसपीएल के बीच कोई विलय नहीं होगा. 

अखिलेश-शिवपाल नहीं आएंगे साथ, आदित्‍य यादव ने चर्चाओं को बताया अफवाह
सपा और पीएसपीएल के बीच नहीं होगा विलय. फाइल फोटो

लखनऊ : समाजवादी पार्टी अध्‍यक्ष अखिलेश यादव और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया (पीएसपीएल) के अध्‍यक्ष शिवपाल यादव के एक साथ आने की खबरों के बीच बड़ा बयान सामने आया है. पीएसपीएल के राष्‍ट्रीय महासचिव आदित्‍य यादव ने गुरुवार को कहा कि दोनों के साथ आने की खबरें महज अफवाह हैं. सपा और पीएसपीएल के बीच कोई विलय नहीं होगा. 

आदित्‍य यादव ने गुरुवार को कहा कि पीएसपीएल को नुकसान पहुंचाने के लिए दोनों पार्टियों के विलय की खबरें उड़ाई जा रही हैं. समाजवादी पार्टी में पीएसपीएल की बढ़ती ताकत को देखकर छटपटाहट है, इसलिए ऐसी खबर उड़ाई जाती हैं. उन्‍होंने कहा कि दोनों के एक साथ आने की खबर अफवाह है. समाजवादी पार्टी की असफलता से पीएसपीएल को फायदा होगा.

देखें LIVE TV

पीएसपीएल के राष्‍ट्रीय महासचिव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के नेता सत्ता में रहने के लालच में असफल गठबंधन कर रहे हैं. सफल नेता अपनी आलोचना भी सुनते हैं. आदित्‍य यादव ने कहा कि अखिलेश यादव अच्छे नेता हैं लेकिन साजिशकर्ताओं के बीच घिरे हैं और इसीलिए पार्टी की ये हालात है. 

उन्‍होंने कहा कि अखिलेश ने कुछ षड्यंत्रकारियों की वजह से जमीनी नेताओं को सम्मान नहीं दिया. इस वक्‍त समाजवादी पार्टी का अस्तित्व खतरे में है. आदित्य यादव ने अखिलेश के नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए कहा कि यूपी में सपा और बसपा खत्म हो रही हैं, पीएसपीएल ही विपक्ष की अहम भूमिका निभा रही है.