अलीगढ़: आपसी रंजिश में हुई ढाई साल की मासूम हत्या, जांच के लिए SIT गठित

मामले पर लापरवाही बरतने वाले एसओ टप्पल को किया गया सस्पेंड कर दिया है. साथ ही जांच के आदेश दिए गए हैं. मामले में पाक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी. वहीं, पीड़ित परिवार को डीएम दो लाख रुपये देंगे. 

अलीगढ़: आपसी रंजिश में हुई ढाई साल की मासूम हत्या, जांच के लिए SIT गठित
एडीजी लॉ और ऑर्डर आनंद कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

अलीगढ़: अलीगढ़ के टप्पल में ढाई साल की बच्ची की नृशंस हत्या से उबाल है. हर कोई दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की मांग कर रहा है. इस बीच यूपी पुलिस ने मामले की जांच के लिए एसपी ग्रामीण की अध्यक्षता में एसआईटी गठित कर दी है. वहीं मामले के तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. हत्या का आरोपी जाहिद पीड़ित का पड़ोसी ही बताया जा रहा है, जिससे पैसों को लेकर विवाद हुआ था.

मामले पर लापरवाही बरतने वाले एसओ टप्पल को किया गया सस्पेंड कर दिया है. साथ ही जांच के आदेश दिए गए हैं. मामले में पाक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी. वहीं, पीड़ित परिवार को डीएम दो लाख रुपये देंगे. 

अलीगढ़ः 3 साल की बच्ची की हत्या के मामले में आरोपियों पर NSA लगाया गया

इस मामले पर एडीजी लॉ और ऑर्डर आनंद कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि 30 मई को बच्ची खेलने के लिए गई थी, तभी वहां लापता हो गई. परिवारवालों को आरोप है कि पुलिस की तरफ से लापरवाही की गई है. 31 मई को मामला दर्ज किया गया था. उन्होंने बताया कि एसआईटी का गठन किया गया है सीओ औऱ 4 आईओ को जांच करने के लिए कहा गया है. एडीजी ने कहा पोस्टमार्टम के आधार पर जांच को आगे बढ़ाई जा रही है. 

नृशंस तरीके से बच्ची की हत्या हुई है, वह सामने आने के बाद लोग कड़ी सजा की मांग कर रहे हैं. खासकर सोशल मीडिया पर बच्ची के लिए न्याय की मांग की जा रही है. 

लाइव टीवी देखें

मामला दो समुदायों से जुड़ा होने की वजह से मौके पर बड़े पैमाने पर पुलिस बल को तैनात किया गया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने गुरुवार को बताया था कि गत 31 मई को टप्पल से लापता हुई तीन साल की बच्ची का क्षत-विक्षत शव गत दो जून को उसके घर के पास एक कूड़े के ढेर में दबा पाया गया था. बच्ची के पिता की शिकायत पर जाहिद और असलम नामक व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया था.