बरेली पुलिस का कारनामा: जिसे UN ने माना था शांति दूत, वह मरने के बाद भी बन गया शांति व्यवस्था पर खतरा!

 मृतक नेपाल सिंह की पत्नी कहती हैं कि कोई मरने के बाद भूत बनकर शांति व्यवस्था कैसे भंग कर सकता है?

बरेली पुलिस का कारनामा: जिसे UN ने माना था शांति दूत, वह मरने के बाद भी बन गया शांति व्यवस्था पर खतरा!

सुबोध मिश्रा/बरेली: उत्तर प्रदेश पुलिस के कारनामे आए दिन सामने आते हैं, लेकिन इस बार बरेली पुलिस ने कुछ ऐसा किया है कि आप भी जानकर हैरान रह जाएंगे. बरेली में भारतीय वायु सेना के कर्मचारी को पुलिस ने शांति भंग करने का आरोपी बताया और मुचलका पाबंद करने का नोटिस भेजा दिया. लेकिन उस कर्मचारी की मौत 2019 में ही हो चुकी है. इतना ही नहीं, इंडियन एयरफोर्स के कर्मचारी नेपाल सिंह को UN ने शांति दूत मानकर सम्मानित किया था और बरेली पुलिस ने उन्हें शांति भंग करने का आरोपी बना दिया. 

ये भी पढ़ें: बॉलीवुड स्टार गोविंदा पहुंचे मुरादाबाद, जमकर लगाए 'यूपी वाले ठुमके', जानें क्या था मौका

SSP ने किया चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर
मरे हुए व्यक्ति का मुचलका पाबंद का नोटिस पाकर घरवाले हैरान रह गए. अब वह अधिकारियों के चक्कर काटकर इंसाफ दिलाने की मांग कर रहे हैं. गौरतलब है कि पंचायत चुनाव के मद्देनजर बरेली की कैंट पुलिस ने शांति भंग की आशंका जताते हुए एसडीएम को रिपोर्ट भेजी, जिसमें मृतक नेपाल सिंह को शांति भंग करने का खतरा बता दिया गया. वहीं,  SSP के संज्ञान में जब यह मामला आया, तो उन्होंने लापरवाही बरतने के आरोप में चौकी इंचार्ज विदेश शर्मा को लाइन हाजिर कर दिया.

ये भी पढ़ें: UPSSSC: होम्योपैथिक फार्मासिस्ट के लिए कई अभ्यर्थी हुए सेलेक्ट, इस तारीख को होगी काउंसलिंग

प्रशासन ने जारी किया था डेथ सर्टिफिकेट
मृतक नेपाल सिंह भारतीय वायु सेना में रसोईया के पद पर नौकरी करते थे और बीमारी के चलते वीआरएस लेकर रिटायर हो गए थे. उसी बीमारी के चलते दिसंबर 2019 में नेपाल सिंह की मृत्यु हो चुकी है. प्रशासन ने उनकी मृत्यु का प्रमाण पत्र भी जारी किया था. लेकिन बरेली की कैंट पुलिस को लगता है कि पंचायत चुनाव में नेपाल सिंह शांति व्यवस्था बिगाड़ सकते हैं. 

ये भी देखें: Cute मछलियों ने पानी के अंदर दो टीम बना कर खेला Football, देखें जीता कौन?

बेटे को भी भेजा नोटिस
इस मामले में कैंट पुलिस ने अपनी रिपोर्ट एसडीएम को सौंपी थी, जिसपर विचार कर एसडीएम सदर ने मृतक नेपाल सिंह के घर नोटिस भेज दिया. पुलिस के घेरे में सिर्फ नेपाल सिंह ही नहीं, बल्कि उनके बेटे प्रदीप भी हैं, जो सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम करते हैं. 

ये भी देखें: यह बिल्ली है गजब की Gymnast, क्या आप कर पाएंगे इसके जैसे करतब?

"भूत बनकर शांति भंग तो कर नहीं सकते"- नेपाल सिंह की पत्नी
नेपाल सिंह के घरवालों की मानें तो कुछ दिन पहले दो पुलिसकर्मी उनके घर आए और एक जरूरी कागज बता कर उन्हें नोटिस दे दिया. इसके बाद साइन करा कर चले गए. जैसे ही उन्होंने नोटिस को गौर से पढ़ा, तो घरवालों के होश उड़ गए. जिस व्यक्ति ने लंबे समय तक भारतीय वायु सेना में अपनी सेवाएं दीं, वह मरने के बाद आगामी पंचायत चुनाव में शांति व्यवस्था को भंग कर सकता है. इसे देखते हुए घरवाले अपनी फरियाद लेकर अधिकारियों के चक्कर लगाने लगे. मृतक नेपाल सिंह की पत्नी कहती हैं कि कोई मरने के बाद भूत बनकर शांति व्यवस्था कैसे भंग कर सकता है?

ये भी देखें: बच्चे ने लगाया ऐसा दिमाग कि बिना खेले ही जीत गया Hockey का मैच, आप भी हंसते रह जाएंगे

मृतक नेपाल सिंह का परिवार आहत 
नेपाल सिंह पर उनके परिवार को गर्व है कि उन्होंने इंडियन एयरफोर्स में अपनी सेवाएं दीं. लेकिन गुंडे-मवालियों की लिस्ट में उनका नाम देखकर आज परिवार आहत है. वहीं, एसएसपी रोहित सिंह सजवान ने मामले की जानकारी लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही, लापरवाही बरतने के आरोप में कैंट थाना इलाके के नकटिया चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर किया है. 

WATCH LIVE TV