close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस छोड़कर BJP में शामिल हुए संजय सिंह का अमेठी में जोरदार स्वागत

कांग्रेस और राज्यसभा की सदस्यता छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए पूर्व सांसद डॉक्टर संजय सिंह और उनकी पत्नी एवं पूर्व मंत्री अमीता सिंह का गुरुवार को अमेठी जनपद में जगह-जगह जोरदार स्वागत हुआ.

कांग्रेस छोड़कर BJP में शामिल हुए संजय सिंह का अमेठी में जोरदार स्वागत
बीजेपी नेता संजय सिंह का अमेठी में जोरदार स्वागत.

अमेठी: कांग्रेस और राज्यसभा की सदस्यता छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए पूर्व सांसद डॉक्टर संजय सिंह और उनकी पत्नी एवं पूर्व मंत्री अमीता सिंह का गुरुवार को अमेठी जनपद में जगह-जगह जोरदार स्वागत हुआ. जनपद के बॉर्डर से ही उनके स्वागत का कार्यक्रम शुरू हुआ और गौरीगंज के बीजेपी कार्यालय पर भी वह पहुंचे, जहां पर उनका जमकर स्वागत किया गया. जगह-जगह स्वागत एवं अभिनंदन स्वीकार करते हुए वह अमेठी कस्बे के  स्टेशन रोड तिराहे पर पहुंचे, जहां पर उन्होंने अपने पिता राजर्षि रणंजय सिंह की मूर्ति पर माल्यार्पण कर आशीर्वाद लिया. इसके बाद ददन सदन में पिछले 3 घंटे से इंतजार कर रही है अमेठी की जनता के पास पहुंचकर सब को संबोधित किया.

जनसभा स्थल पर ही मीडिया से बात करते हुए संजय सिंह ने कहा कि अमेठी में हमारी मातृभूमि है. अमेठी में रहा अमेठी में पला और अमेठी में बढ़ा खेला-कूदा राजनीति किया और सब कुछ नेम फेम यहीं पर मिला. आज एक ऐसे वक्त में यह हमारा फैसला अमेठी की जनता ने बहुत ही हृदय से स्वीकार किया. आज वही दृश्य आपने देखा है मैं अमेठी की जनता का आभारी हूं. हर समय पैदाइश से लेकर आज तक यही कहा कि 'जननी जन्मभूमि स्वर्गादपि गरीयसी' मातृभूमि की सेवा जन सेवा यही हमारा राजनीति का लक्ष्य है. आज इसी मकसद से हम लोग इस फेज में जबकि इस देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना सर्वमान्य नेता चुना है. 

लाइव टीवी देखें-:

उन्होंने देश को एक नया भारत देने का उन्होंने व्रत लिया है, हम लोगों ने भी तय किया है कि हम हर तरह से उनके साथ हैं. डॉ. संजय सिंह ने पाकिस्तान को लेकर कहा कि पाकिस्तान फ्रस्टेड है और वह अपना फ्रस्टेशन उतार रहा है. वह मिसाइल नहीं है, उसके फ्रस्टेशन का एक संदेश है. संजय सिंह ने बीजेपी ज्वाइन करने पर कहा कि ये फैसला अमेठी की जनता का है. 2019 में जब अमेठी की जनता ने फैसला सुना दिया तो हमें अमेठी की जनता के साथ ही रहना है ये फैसला हमने किया. उन्होंने कहा के हम अमेठी की जनता की सेवा करेंगे. हम उनके विश्वास पर खरे उतरे हैं और भविष्य में भी खरे उतरेंगे.