Corona Medicines की कालाबाजारी की तो घोषित हो जाओगे 'गैंगस्टर'!

जीवनरक्षक दवाओं की कालाबाजारी को लेकर सीएम योगी ने सख्त निर्देश दिए हैं, सीएम ने कहा ऐसे लोगों के खिलाफ गैंगस्टर और NSA जैसे एक्ट के तहत कड़ी कार्रवाई की जाए

Corona Medicines की कालाबाजारी की तो घोषित हो जाओगे 'गैंगस्टर'!

लखनऊ: कोरोना की दूसरी लहर के बेहिसाब कहर के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन और फैबीफ्लू जैसी जीवनरक्षक दवाओं की डिमांड काफी बढ़ रही है, लिहाजा कालाबाजारी और जमाखोरी भी शुरू हो गई है. जिसको लेकर योगी सरकार ने बड़ी सख्ती दिखाई है. सीएम योगी ने गृह विभाग को कड़े निर्देश दिए इन जीवनरक्षक दवाओं की कालाबाजारी न हो इस पर विशेष नजर रखें, संलिप्त लोगों के विरुद्ध गैंगस्टर और NSA के तहत सख्त कार्रवाई की जाए.

ये भी पढ़ें: ध्यान दें! 15 मई तक बैंकों में नहीं खुलेंगे अकाउंट, इन जरूरी कामों के लिए भी निर्धारित किया जाएगा समय

टीम-11 को सीएम के निर्देश
सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम-11 की बैठक में रेमडेसिविर इंजेक्शन और फैबीफ्लू जैसी जीवनरक्षक दवाओं की आपूर्ति की विस्तृत समीक्षा की. पुलिस महानिदेशक को इस संबंध में एक विशेष टीम गठित कर प्रदेश में छापामार कार्रवाई के निर्देश दिए. सीएम ने कहा कि जीवनरक्षक दवाओं की आपूर्ति बेहद जरूरी है, इसकी लगातार मॉनिटरिंग की जाए. रेमेडेसिवीर इंजेक्शन बनाने वाली कंपनियों से लगातार संपर्क में रहें.

ये भी पढ़ें: Cyber Crime: फर्जी Facebook ID बनाकर बैंक कर्मी के ही अकाउंट से निकाल लिए हजारों

'ऑक्सीजन सेंटर्स पर रहे विशेष निगरानी'
सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी ऑक्सीजन रीफिल केंद्रों पर जिम्मेदार अधिकारियों की तैनाती की जाए, साथ ही ये भी सुनिश्चित करें कि ऑक्सीजन का वितरण पारदर्शी ढंग से हो, ऑक्सीजन टैंकर को जीपीएस से जोड़ा जाए और प्लांट्स पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया जाए.

ये भी पढ़ें: गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर: SC द्वारा गठित कमिटी ने UP Police को दी क्लीन चिट  

गौतमबुद्धनगर में पुलिस का एक्शन
सीएम योगी के सख्त निर्देशों के बीच पुलिस भी एक्शन में है. सेक्टर 20 थाना पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी पर एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने उसके पास से 105 इंजेक्शन और डेढ़ लाख रुपए बरामद किए हैं, कई इंजेक्शन विदेशी कम्पनियों के भी हैं.

ये भी पढ़ें: नई दिल्ली से यूपी-बिहार के लिए आज से चलेंगी ये स्पेशल ट्रेनें, देखें पूरी लिस्ट

कल कानपुर में भी हुआ था एक्शन
3500 रुपए से कम में बिकने वाला रेमडेसिविर इंजेक्शन कानपुर में 7 हजार रुपए में बेचा जा रहा था. इसका इनपुट मिलिट्री इंटेलीजेंस ने STF को दिया, जिसके बाद कानपुर से ही रेमडेसिविर के 265 इंजेक्शन जब्त किए गए. 

ये भी पढ़ें: कोरोना के चलते उत्तराखंड में सख्ती, 2 बजे तक ही खुलेंगे बाजार, हाई कोर्ट ने दिए ये निर्देश

रेमडेसिविर की कालाबाजारी रोकेगी STF 
जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी और जमाखोरी रोकने के लिए UP STF तैनात कर दी गई है, ADG अमिताभ यश ने STF की सभी यूनिट्स को ये निर्देश दिए हैं कि अन्य राज्यों से लाकर की जा रही कालाबाजारी और जमाखोरी पर रोक लगाई जाए, इस संबंध में जो भी इनपुट मिले, उसके आधार पर जल्द से जल्द कार्रवाई की जाए. 

WATCH LIVE TV