close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चमोली: त्रिशूल-1 पर्वत पर ट्रैकिंग कर रहा विदेशी ट्रैकर लापता, एवलांच आने के बाद से गायब, रेस्क्यू शुरू

Trishul-1 Mountain: बताया जा रहा है कि पर्यटकों का 6 सदस्यीय दल 13 सितंबर से 08 अक्टूबर तक हिमालय की त्रिसूल-1 की ट्रैकिंग पर निकला था. ट्रैकिंग रूट पर एवलांच आने के बाद से वह गायब है.  दल के बाकी पांचों सदस्य सुरक्षित बताए जा रहे हैं. 

चमोली: त्रिशूल-1 पर्वत पर ट्रैकिंग कर रहा विदेशी ट्रैकर लापता, एवलांच आने के बाद से गायब, रेस्क्यू शुरू
प्रतीकात्मक तस्वीर

चमोली, पुष्कर चौधरी: चमोली (Chamoli) में त्रिशूल-1 पर्वत (Trishul-1 Mountain) पर ट्रैकिंग (Trekking) पर निकला 6 सदस्यीय विदेशी पर्यटकों के दल में से एक सदस्य रास्ते से लापता हो गया. इडिंयन मॉउटनेरिंग फांउडेशन (Indian Mountaineering Foundation) द्वारा जिला कन्ट्रोल रूम को जानकारी दी गई है.

बताया जा रहा है कि पर्यटकों का 6 सदस्यीय दल 13 सितंबर से 08 अक्टूबर तक हिमालय की त्रिसूल-1 की ट्रैकिंग पर निकला था. ट्रैकिंग रूट पर एवलांच आने के बाद से वह गायब है. दल के बाकी पांचों सदस्य सुरक्षित बताए जा रहे हैं. लापता हुए शख्स का नाम पीटर वीटेक बताया जा रहा है. पीटर हंगरी का रहने वाला बताया जा रहा है. 

घटना की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया पर्यटक की खोजबीन के लिए टीम को रवाना कर दिया है. विदेशी पर्यटक की खोज के लिए एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, स्थानीय प्रशासन, आपदा प्रबंधन एवं वन विभाग के कार्मिकों की टीम को रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए भेजा गया है. 

रेस्क्यू दल ने सुतोल बेस कैम्प से आगे लापता पर्यटक की खोजबीन भी शुरू कर दी. सात हजार एक सौ बीस मीटर ऊंचे त्रिशूल पर्वत के आरोहण के लिए पिछले महीने यानी 13 सितंबर को यह छह सदस्यीय दल निकला था, जिसका अभियान इसी महीने की 8 तारीख को पूरा होना है.

लाइव टीवी देखें

चमोली जिले में इस चोटी पर जाने के लिए तीन रास्ते हैं, लेकिन वन विभाग के अधिकारियों के अनुसार उसके पास तीनों में से कहीं से भी दल की ट्रैकिंग दल के जाने की अनुमति की जानकारी नहीं है.