CAA के खिलाफ शिवपाल यादव का उपवास, कहा 'देश को बांटने वाला है ये कानून'

सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ धरना दे रहे शिवपाल यादव ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून देश को बांटने वाला कानून है.

CAA के खिलाफ शिवपाल यादव का उपवास, कहा 'देश को बांटने वाला है ये कानून'
शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) देश को बांटने वाला कानून है.

लखनऊ: एक तरफ जहां देश के अलग-अलग हिस्सों में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन हो रहा है. तो वहीं राजनीतिक दल भी बिल का विरोध कर मौका भुनाना में लगे हैं. लखनऊ (Lucknow) में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (ShivPal Singh Yadav) अपने पार्टी कार्यालय के बाहर उपवास पर बैठे हैं.

सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ धरना दे रहे शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) देश को बांटने वाला कानून है. और इसलिए रोड पर छात्र और लोग उतर आए हैं.

शिवपाल यादव ने कहा कि इस कानून से सभी हिन्दू, मुस्लिम परेशान हैं. ये बिल देश हित में नहीं है. साथ ही शिवपाल यादव ने कहा कि बीजेपी जो कहती है, वो कभी नहीं करती. हम लोग सबको एकजुट करेंगे और इस सरकार को उखाड़ फेकेंगे.

आपको बता दें कि इससे पहले बहुजन समाज पार्टी (BSP) के प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की. राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा की अगुवाई में राष्ट्रपति कोविंद से मिले बीएसपी के प्रतिनिधिमंडल ने अपील की है कि है कि नागरिकता संशोधन अधिनियम को रद्द करने के लिए कदम उठाएं.

राष्ट्रपति से मिलने के बाद मीडिया से बात करते हुए बीएसपी सांसद ने कहा, 'हमने महामहिम को बताया कि नागरिकता संशोधन अधिनियम गलत है और यह संविधान की प्रस्तावना, अनुच्छेद 14 और 21 का उल्लंघन करता है. हमने उनसे इसे रद्द करने के लिए कदम उठाने का अनुरोध किया'.