COVID-19 टेस्टिंग पर योगी का बड़ा एक्शन, 15 जून तक सभी जिलों में पहुंचेगी ट्रू नेट मशीन

 ट्रू नेट मशीन के जरिये कोरोना वायरस की टेस्टिंग के परिणाम एक से डेढ़ घंटे में ही प्राप्त हो जाते हैं. ऐसे में इन मशीनों से ग्रामीण इलाकों और कोरोना से ज्यादा प्रभावित हो रहे जिलों में टेस्टिंग की क्षमता बढ़ेगी. इस तरह संक्रमण को आगे बढ़ने से रोका जा सकेगा.

COVID-19 टेस्टिंग पर योगी का बड़ा एक्शन, 15 जून तक सभी जिलों में पहुंचेगी ट्रू नेट मशीन

लखनऊ: सीएम योगी ने प्रदेश में कोरोना वायरस टेस्टिंग की क्षमता बढ़ाने के लिए सूबे के सभी 75 जिलों में ट्रू नेट मशीनों के वर्किंग कंडीशन में लगाने के निर्देश दिए हैं. सीएम योगी ने कहा है कि 15 जून 2020 तक सभी जिलों में ट्रू नेट मशीनें लग जानी चाहिए, ताकि कोरोना मरीजों की टेस्टिंग में आसानी हो सके. 

ट्रू नेट मशीन से जल्दी मिलने हैं नतीजे 
सीएम का कहना है कि शीघ्रता से टेस्टिंग परिणाम प्राप्त करने के लिए प्रदेश सरकार ने प्राथमिकता पर ट्रू नेट मशीनें उपलब्ध कराईं हैं ताकि कोविड और नॉन कोविड अस्पतालों की व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाया जा सके. ट्रू नेट मशीन के जरिये कोरोना वायरस की टेस्टिंग के परिणाम एक से डेढ़ घंटे में ही प्राप्त हो जाते हैं. ऐसे में इन मशीनों से ग्रामीण इलाकों और कोरोना से ज्यादा प्रभावित हो रहे जिलों में टेस्टिंग की क्षमता बढ़ेगी. इस तरह संक्रमण को आगे बढ़ने से रोका जा सकेगा. मुख्यमंत्री ने कोविड-19 से होने वाली मृत्यु की दर को नियंत्रित किए जाने पर जोर दिया.

इसे भी पढ़िए: अलीगढ़: चलती ट्रेन में हुआ हादसा, परिजनों की आंख लगी तो 2 साल की बच्ची हो गई लापता

श्रमिकों/कामगारों के पुनर्वास पर कार्ययोजना 
सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कामगारों/श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में निरन्तर कार्यवाही की जाए. आने वाले 6 महीने की अवधि में 10 लाख नई नौकरियों और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की कार्ययोजना तैयार की जा रही है. सीएम ने मण्डी को एक्सपोर्ट हब के तौर पर विकसित करने के निर्देश दिए हैं. 

कोरोना वॉरियर्स की सुरक्षा पर संजीदा 
सीएम योगी ने प्रदेश में कोरोना वॉरियर्स में संक्रमण के बढ़ते केसेज पर भी बात की है. उन्होंने पुलिस बल को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए सभी उपाय करने के निर्देश दिए हैं. इसके अलावा कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के संबंध में लोगों को पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से जागरूक करने की व्यवस्था भी जारी रखने के लिए कहा है. 

WATCH LIVE TV