close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

SP-BSP के साथ होने पर बोले दिनेश शर्मा, '2017 में हुए गठबंधन का जो हश्र हुआ, वो फिर होगा'

उन्होंने कहा कि सपा और बसपा के कार्यकर्ताओं के बीच कोई सामंजस्य नहीं हो सकता. क्योंकि दोनों ने ही 1995 के गेस्ट हाउस कांड का नतीजा भुगता है.

SP-BSP के साथ होने पर बोले दिनेश शर्मा, '2017 में हुए गठबंधन का जो हश्र हुआ, वो फिर होगा'
उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा का फाइल फोटो.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने मंगलवार को दावा किया कि बीजेपी आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश से 74 सीटों पर विजय प्राप्त करेगी और सपा-बसपा गठबंधन से बीजेपी के प्रदर्शन पर किसी तरह का असर नहीं होगा. दिनेश शर्मा ने कहा कि 'यूपी के लड़कों' (अखिलेश यादव और राहुल गांधी) का भी ऐसा ही गठबंधन 2017 में बना था, लेकिन बीजेपी को पूर्ण बहुमत हासिल हुआ था. मौजूदा सपा-बसपा गठबंधन का भी वही हश्र होगा और बीजेपी 80 में से 74 सीटें जीतेगी. 

उन्होंने कहा कि सपा और बसपा के कार्यकर्ताओं के बीच कोई सामंजस्य नहीं हो सकता. क्योंकि दोनों ने ही 1995 के गेस्ट हाउस कांड का नतीजा भुगता है. केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए शर्मा ने कहा कि भीम राव आंबेडकर का नाम लेने वाली पार्टियों ने कुछ नहीं किया और उनकी विचारधारा का अनुपालन भी नहीं किया जबकि यह मोदी सरकार ही है, जिसने दलितों और पिछडों के कल्याण के लिए काम किया.

ये भी पढ़ें: SP- BSP गठबंधन पर बोले योगी, कहा- ये भयवश का गठबंधन है, जनता इसे स्वीकार नहीं करेगी

'धर्म की राजनीति' करने के आरोपों पर शर्मा ने कहा कि यह सही बात है कि हम 'राष्ट्रधर्म' की राजनीति करते हैं, जो हर किसी को करना चाहिए. तीन राज्यों में बीजेपी की पराजय के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि हम कुछ अंतर से ही वहां सरकार नहीं बना सके. 

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने पुराने मतभेदों को भुलाकर शनिवार (12 जनवरी) को गठबंधन की औपचारिक घोषणा की. दोनों दल 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा सपा-बसपा ने की है.