शामली में दहेज लोभियों ने ले ली एक और बेटी की जान, आए दिन की जाती थी बाइक की डिमांड

आरोप है कि ससुराल पक्ष नवविवाहिता से दहेज में बाइक की डिमांड कर रहे थे. जिसे नवविवाहिता ला पाने में असमर्थ थी. 

शामली में दहेज लोभियों ने ले ली एक और बेटी की जान, आए दिन की जाती थी बाइक की डिमांड
आरोप है कि दहेज के लोभियों ने साफियां की फांसी लगाकर हत्या कर दी और शव को घर में छोड़कर मौके से फरार हो गए.

शामली: जनपद में नवविवाहिता की निर्मम हत्या का मामला सामने आया है. दहेज (Dowry) की मांग पूरी न होने पर नवविवाहिता की फांसी लगाकर हत्या कर देने की बात सामने आई है. हत्या का आरोप पति और ससुरालियों पर लगा है. आरोप है कि ससुराल पक्ष नवविवाहिता से दहेज में बाइक की डिमांड कर रहे थे. जिसे नवविवाहिता ला पाने में असमर्थ थी. 

मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के हाजीपुरा कॉलोनी का है. जहां साफियां पुत्री महबूब निवासी जलालाबाद की शादी शामली के हाजीपूरा कॉलोनी निवासी साबिर पुत्र गफ्फार के साथ हुई थी. शादी में मृतका के पिता महबूब ने अपनी हैसियत के तहत दान दहेज दिया. लेकिन आरोप है कि शादी के तीन महीने बाद ही और दहेज की मांग की जाने लगी. मृतका के पिता महबूब के मुताबिक ससुरालियों व पति आए दिन दहेज में बाइक की डिमांड करने लगे. बताया जा रहा है कि इस बात को लेकर मृतिका से आये दिन मारपीट भी होती थी. लेकिन, मृतका साफियां लोकलाज के चलते अपने परिजनों से सब कुछ छिपाती रही और चुप रहकर यातनाएं सहती रही. 

लेकिन, आरोप है कि दहेज के लोभियों ने साफियां की फांसी लगाकर हत्या कर दी और शव को घर में छोड़कर मौके से फरार हो गए. वहीं साफियां की मौत की सूचना जैसे ही आसपास के लोगों को लगी तो इलाके में सनसनी फैल गई. बेटी की मौत की ख़बर सूनते ही परिजन मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी तुरंत पुलिस को दी. जिस पर पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा. फिलहाल, पुलिस ने मृतका के पिता महबूब की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है. साथ ही फरार सभी आरोपियो की तलाश शुरू कर दी है.