लॉकडाउन के बीच गोंडा में दो पक्षों में चली ताबड़तोड़ गोलियां, दो की मौत, 4 घायल

मामले पर देवीपाटन मंडल के उपमहानिरीक्षक ने बताया कि घटना की सूचना पर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक मौके पर हैं.

लॉकडाउन के बीच गोंडा में दो पक्षों में चली ताबड़तोड़ गोलियां, दो की मौत, 4 घायल

अंबिकेश्वर प्रताप पांडेय/गोंडा: उत्तर प्रदेश के गोंडा में लॉकडाउन के बीच दो पक्षों में खूनी संघर्ष की खबर है. यहां दो पक्षों में वर्चस्व को लेकर हुई ताबड़तोड़ फायरिंग में एक पक्ष के दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि चार लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है. घटना में देवेंद्र कुमार सिंह उर्फ लाठी सिंह जो कि सपा के जिला उपाध्यक्ष थे और उनके सहयोगी कन्हैया पाठक की मौत की मौत हो गई. जबकि घायलों में विजय कुमार सिंह उर्फ टिंटु सिंह भी शामिल है, जो सपा युवजन सभा का प्रदेश उपाध्यक्ष है. उधर, मामले का सीएम योगी ने भी संज्ञान ले लिया है. सीएम योगी ने आरोपियों पर रासुका लगाने के आदेश दिए हैं. साथ ही घायलों को उचित इलाज मुहैया कराए जाने के लिए भी आदेशित किया है.

 

घटना उमरी बेगम गंज थाना क्षेत्र के तरबगंज इलाके के परास पट्टी गांव की है. जहां बताया जा रहा है कि मनरेगा मजदूरों को राहत देने की नियत से भेजे गए पैसे में बंदरबांट को लेकर देवेंद्र सिंह ने सोशल मीडिया के जरिए शिकायत की थी, जिससे गुस्साए जिला पंचायत सदस्य और उसके लोगों ने बैंक के बाहर ही गोलीकांड को अंजाम दे दिया. पप्पू सिंह उर्फ परास ने बताया कि आरोपी जिला पंचायत सदस्य की मां ही ग्राम प्रधान हैं. ग्राम प्रधान और जिला पंचायत सदस्य के खिलाफ मनरेगा में पैसे को लेकर शिकायत की गई थी. उसी की जांच के लिए खंड विकास अधिकारी और ब्लॉक के अधिकारी आए थे. जिसकी जानकारी लगते ही जिला पंचायत सदस्य अपने साथियों के साथ आ धमका और फायरिंग शुरू कर दी.

वहीं, मामले पर देवीपाटन मंडल के उपमहानिरीक्षक ने बताया कि घटना की सूचना पर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक मौके पर हैं.