दर्दनाक... झोपड़ी में लगी आग, जिंदा जली डेढ़ साल की मासूम, दो ग्रामीण झुलसे

बहराइच के गुलरीपुरवा गांव में सोमवार को धर्मेन्द्र सिंह की झोपड़ी में अचानक ही आग लग गई, जिसे देखकर सब जल्दी-जल्दी घरों के बाहर भाग गए, लेकिन डेढ़ वर्षीय मासूम घर के अंदर ही रह गई. जिस वक्त झोपड़ी में आग लगी वह सो रही थी, जिससे बच्ची की जलने से मौत हो गई.

दर्दनाक... झोपड़ी में लगी आग, जिंदा जली डेढ़ साल की मासूम, दो ग्रामीण झुलसे
सांकेतिक तस्वीर

बहराइचः बहराइच के सुजौली थाना क्षेत्र में एक गांव स्थित एक झोपड़ी में आग लगने से डेढ़ वर्षीय एक बच्ची की मौत हो गई. जबकि झोपड़ी में लगी आग को काबू करने के प्रयास के दौरान दो अन्य व्यक्ति झुलस गए. पुलिस उपाधीक्षक अरुण चन्द्र ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि बहराइच के गुलरीपुरवा गांव में सोमवार को धर्मेन्द्र सिंह की झोपड़ी में अचानक ही आग लग गई, जिसे देखकर सब जल्दी-जल्दी घरों के बाहर भाग गए, लेकिन डेढ़ वर्षीय मासूम घर के अंदर ही रह गई. जिस वक्त झोपड़ी में आग लगी वह सो रही थी, जिससे बच्ची की जलने से मौत हो गई.

वहीं बच्ची को बचाने और झोपड़ी में लगी आग को काबू करने के चक्कर में दो अन्य व्यक्ति भी बुरी तरह से झुलस गए, जिन्हें नजदीकी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. उन्होंने कहा कि अभी तक इस बात की जानकारी नहीं मिल पाई की झोपड़ी में आग लगने की वजह क्या थी, लेकिन प्रथम दृष्टया मामला शॉर्ट सर्किट का लग रहा है, हालांकि पुलिस अभी छान-बीन कर रही है और इससे संबंधित कोई भी जानकारी इसके बाद ही दी जा सकेगी.

इलाज के नाम पर कराया जा रहा था धर्म परिवर्तन, आरोपी ने कहा, धर्म बदल लो, पैसा भी मिलेगा और दवा भी

वहीं झोपड़ी में लगी आग ने आस-पड़ोस के दो अन्य घरों को भी अपनी चपेट में ले लिया, जिससे छोपड़ी के साथ ही दो अन्य घर भी जलकर खाक हो गए. आग लगने पर ग्रामीणों ने पुलिस और फायर ब्रिगेड को इसकी जानकारी दी, लेकिन तब तक कहीं देर न हो जाए, इसी आशंका में खुद भी आग बुझाने में लग गए. जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस और  ग्रामीणों ने मिलकर घरों में लगी आग पर किसी तरह से काबू पाया. घरों में लगी आग के चलते तीनों ही परिवारों को काफी नुकसान हुआ है, वहीं एक बच्ची की मौत भी हो गई, जिससे घर में मातम का माहौल है.