close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हल्द्वानी: भारी बारिश के बाद इंदिरा हृदयेश के घर में घुसा पानी, होटल में ली शरण

काठगोदाम क्षेत्र के बदरीपुरा मोहल्ले में घर की छत पर सुरक्षा दीवार गिरने से बच्ची समेत चार लोग दब गए. इस हादसे में एक महिला की मौत हो गई है.   

हल्द्वानी: भारी बारिश के बाद इंदिरा हृदयेश के घर में घुसा पानी, होटल में ली शरण
जलभराव की वजह से सड़कों में चलना लोगों के लिए दुश्वार हो गया है.

हल्द्वानी, विनोद कांडपाल: उत्तराखंड के हल्द्वानी में मूसलाधार बारिश ने लोगों की समस्याओं को बढ़ा दिया है. आलम ये है कि लोग घरों में ही कैद होने पर मजबूक हो गए हैं. नगर निगम की नाकामी और सिंचाई विभाग की लापरवाही की वजह से पूरा शहर मूसलाधार बरसात के बाद दरिया में तब्दील हो गया. वहीं, काठगोदाम क्षेत्र के बदरीपुरा मोहल्ले में एक मकान के ऊपर सुरक्षा दीवार गिर गई. घर के भीतर मौजूद तीन महिलाएं और पांच वर्षीय बच्ची मलबे में दब गई. 

स्थानीय लोगों, पुलिस और राजस्व कर्मियों ने मलबे में दबे लोगों को बाहर निकालकर बेस अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने एक महिला को मृत घोषित कर दिया. अन्य घायलों की हालत स्थिर बनी हुई है. 

कुमाऊं के प्रवेश द्वार हल्द्वानी में मूसलाधार बारिश की वजह से सिंचाई विभाग की नहरें और नगर निगम की नालियां चोक हो गई और सारा कीचड़ भरा पानी सड़कों पर आ गया है. सड़कों में चलना लोगों के लिए दुश्वार हो गया है. रिहायशी इलाकों में लोगों के घरों के अंदर तक कीचड़ घुस गया है. प्रदेश की नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता इंदिरा हृदयेश के घर में भी जलभराव हो गया है. जलभराव की वजह से इंदिरा हृदयेश को अपने परिवार सहित शहर के एक निजी होटल में शरण लेनी पड़ी है. सड़कों पर चलने वाले वाहन भी घंटों जाम में फंसे रहे. 

बारिश में इतने बुरे हालत हल्द्वानी जैसे शहर की कभी नहीं हुए. नहरों और नालों को साफ रखने का जिम्मा संभालने वाले नगर निगम और सिंचाई विभाग की लापरवाही की वजह से न सिर्फ पहाड़ों में आने-जाने वाले राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है बल्कि घंटों तक लोग जाम में भी फंसे रहे, अब सवाल यह है की आखिर कब तक आम जनता नगर प्रशासन के नक्कारेपन का शिकार होते रहेगी.