close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

केदारनाथः भारी बर्फबारी के कारण पुनर्निमाण में बाधा, जल्द शुरू होगा रुका काम

 इससे पहले 5 और 6 जनवरी को केदारनाथ में 4 फुट बर्फ गिर चुकी है.

केदारनाथः भारी बर्फबारी के कारण पुनर्निमाण में बाधा, जल्द शुरू होगा रुका काम
केदारनाथ में अब तक 4 फुट बर्फ गिर चुकी है

(संदीप गुसाईं)/केदारनाथः केदारनाथ लगातार बर्फबारी से पुनर्निर्माण कार्य बाधित हो गए हैं. धाम में 4 फीट से ज्यादा बर्फ गिर चुकी है और तापमान -13 डिग्री तक पहुंच गया है. जिसके चलते केदारनाथ में पानी भी जम चुका है और अब पीने के लिए भी बर्फ को गर्म करना पड़ रहा है. जिसके कारण अब केदारनाथ धाम में बर्फबारी रुकने के बाद ही पुनर्निर्माण कार्य शुरू हो पाएगा. बर्फबारी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मंदिर के मुख्य द्वार के पास लगी नंदी की मूर्ति भी ढक चुकी है. इससे पहले 5 और 6 जनवरी को केदारनाथ में 4 फुट बर्फ गिर चुकी है.

बर्फबारी से फिर हसीन हुईं कश्मीर की वादियां, श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग बंद

5 सालों से केदारनाथ में चल रहा है पुनर्निर्माण कार्य
बता दें वर्तमान में केदारनाथ धाम में करीब 70 से ज्यादा मजदूर कार्य कर रहे हैं. पिछले साल 7 अक्टूबर को दीपावली के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ में जारी पुनर्निर्माण कार्यो का निरीक्षण किया था. बता दें 2013 में आई प्राकृतिक आपदा के बाद से ही पिछले 5 सालों से केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्य किये जा रहे हैं, लेकिन वह अभी तक पूरे नहीं हो पाए हैं. पहले निम ने कई निर्माण कार्य किये अब लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग सहित कई अन्य विभाग केदारनाथ में निर्माण कार्य कर रहे हैं.

उत्‍तराखंड में पर्यटकों को रिझाने के लिए विंटर टूरिज्‍म की पहल, सरकार कर रही तैयारी

बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में भी बर्फ की सफेद चादर
बता दें केदारनाथ के साथ ही बद्रीनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और मसूरी में भी भारी बर्फबारी का दौर जारी है, जिसके चलते ये सभी जगहें बर्फ की चादर में लिपटी नजर आ रही हैं. मौसम विभाग ने उत्तरकाशी, रुदप्रयाग, चमोली और पिथौरागढ़ जिले में भारी बर्फबारी का अलर्ट जारी किया है.