लापरवाही: नहीं मिली एम्बुलेंस, अस्पताल के गेट पर हुई डिलीवरी, सर्द जमीन पर गिर पड़े मां-बच्चा

उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले में एक महिला की हॉस्पिटल के गेट पर ही डिलीवरी हो गई. मां और बच्चा दोनों सर्दी में फर्श पर गिर पड़े. इसके चलते परिवार वालों ने हॉस्पिटल पर लापरवाही का आरोप लगाया है.

लापरवाही: नहीं मिली एम्बुलेंस, अस्पताल के गेट पर हुई डिलीवरी, सर्द जमीन पर गिर पड़े मां-बच्चा
सांकेतिक तस्वीर.

अमित सोनी/ ललितपुर: उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले में एक महिला की हॉस्पिटल के गेट पर ही डिलीवरी हो गई. मां और बच्चा दोनों सर्दी में फर्श पर गिर पड़े. इसके चलते परिवार वालों ने हॉस्पिटल पर लापरवाही का आरोप लगाया है. साथ ही, डायल 102 एम्बुलेंस सेवा पर भी समय से न आने का आरोप लगाया गया है. 

ये भी पढ़ें: RRB NTPC 2020: एग्जाम हो सकता है पोस्टपोन, जानें लेटेस्ट अपडेट 

नहीं मिली एम्बुलेंस
पीड़ित महिला के परिजनों का आरोप है कि वे लोग खाना बदोश हैं. बहुत गरीबी में जीवन-यापन करते हैं. कृष्णा कुमारी को देर रात से ही दर्द होना शुरू हो गया था.  इसके बाद परिजनों ने एम्बुलेंस के लिए डायल 102 पर कॉल किया, लेकिन कई घंटे बीत जाने के बाद भी एम्बुलेंस नहीं आई. एम्बुलेंस मैनेजमेंट द्वारा 20 - 20 मिनिट का आश्वासन दिया जाता रहा. इसके बाद परिजन एम्बुलेंस न मिलने पर टैक्सी से महिला को हॉस्पिटल लेकर रवाना हुए.

गेट पर काफी देर तक रहे मां-बच्चा
परिजनों के अनुसार जब वह महिला को लेकर हॉस्पिटल पहुंचे, तब हॉस्पिटल के गेट पर ही डिलीवरी हो गई.  काफी देर तक मां अपने नवजात बच्चे के साथ गेट पर ही पड़े रही. हालांकि, जैसे ही स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों ने देखा, उन्होंने आनन-फानन में महिला को हॉस्पिटल में भर्ती कराया, जहां मां और बच्चे का इलाज किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: अक्षय ने बताया 'राम-सेतु' के बारे में, CM योगी ने दिया अयोध्या में शूटिंग का इन्विटेशन

"मामले की जांच कराई "- CMO
ललितपुर के सीएमो डी के गर्ग ने इस मामले में बताया कि पीड़ित प्रसूता के परिजन ने जिस मोबाइल नंबर से एम्बुलेंस सेवा के लिए कॉल था, उस मोबाइल नंबर पर इनकमिंग कॉल की सुविधा बंद थी. ऐसे में ड्राइवर उनसे संपर्क नहीं कर पाया. वहीं, प्रसूता का पता भी अलग बताया गया था. फिलहाल, एम्बुलेंस प्रदाता को चेतावनी दे दी गई है. इस तरह की लापरवाही पर ध्यान दिया जाए. उन्होंने आगे बताया कि मां और बच्चा सही हैं. हालांकि, बच्चा प्रिमेच्योर है साथ ही वह दिव्यांग पैदा हुआ है. दोनों का इलाज जिला महिला अस्पताल में किया जा रहा है.

WATCH LIVE TV