कार्ड से किया पिज्जा का पेमेंट, थोड़ी देर में अकाउंट हो गया खाली; पढ़ें चौंकाने वाला मामला

अगर आप पिज्जा खाने के शौकीन हैं और किसी रेस्टोरेंट में कार्ड से पेमेंट करते हैं, तो सावधान हो जाएं.  

कार्ड से किया पिज्जा का पेमेंट, थोड़ी देर में अकाउंट हो गया खाली; पढ़ें चौंकाने वाला मामला
पिज्जा खाने वाले हो जाएं सावधान...

ग्रेटर नोएडा/पवन त्रिपाठी: अगर आप पिज्जा खाने के शौकीन हैं, और किसी रेस्टोरेंट में कार्ड से पेमेंट करते हैं, तो सावधान हो जाएं, क्योंकि पिज्जा खाने के चक्कर में लोग ऑनलाइन ठगी का शिकार हो रहे हैं. ताजा मामला ग्रेटर नोएडा के गौड़ सिटी मॉल स्थित एक मशहूर पिज्जा चेन का है. जहां ग्राहकों के कार्ड नंबर और भुगतान के दौरान पिन देखकर अकॉउंट से लाखों रुपये गायब किए जा रहे थे. गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने ऐसे ही 2 शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जो पिज्जा चेन में लोगों से ऑनलाइन ठगी करते थे.  

पुलिस ने पिज्जा चेन में काम करने वाले कर्मचारी अभिषेक और उसके दोस्त अनिकेश प्रसाद को गिरफ्तार किया है. दरअसल, बिसरख कोतवाली क्षेत्र की गौर सिटी मॉल स्थित एक मशहूर पिज्जा चेन के एरिया हेड नितिन महाजन ने लोगों से ठगी की शिकायत दर्ज कराई थी. जिसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर दोनों आरोपियों पर शिकंजा कसा और जेल भेज दिया. पिज्जा चेन के एरिया हेड नितिन महाजन ने बताया कि कई ग्राहकों ने पिज्जा खरीदने के बाद उनके खाते से रुपये निकलने की शिकायत की थी.

इस पर कंपनी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने जांच पड़ताल शुरू की. सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि पिज्जा शॉप पर काम करने वाला कर्मचारी अभिषेक भुगतान के वक्त ग्राहकों का पिन नंबर देख लेता था और उसे अपने दोस्त अनिकेश प्रसाद को भेजता था. दोनों मिलकर ग्राहकों के अकाउंट से पैसे निकालते थे. पुलिस ने अभिषेक के मोबाइल से ग्राहकों की सीक्रेट डिटेल अपने साथी को भेजने के सबूत भी बरामद किए हैं. गाजियाबाद के अलावा कई जगहों से ऑनलाइन ठगी के मामले सामने आए हैं, इसीलिए ये जानने की जरूरत है कि इससे कैसे बच सकते हैं.

ऑनलाइन ठगी से ऐसे बचें
-
ट्रांजेक्शन से पहले सुनिश्चित करें कि आपका इंटरनेट कनेक्शन पासवर्ड से प्रोटेक्टेड हो.
-ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते समय साइट के सुरक्षित होने का संकेत देख लें, सही यूआरएल पर ही पेमेंट करें.
-वित्तीय ट्रांजेक्शन के लिए कठिन पासवर्ड रखना जरूरी है. पासवर्ड अंक, अक्षर और सिंबल के मिक्स से कम से कम आठ लेटर का होना चाहिए.
-वायरस और सायबर अटैक से बचाव में एंटी वायरस बहुत काम आता है. सस्ते या फ्री एंटी-वायरस के लालच में ना आयें. इसे समय-समय पर अपडेट करते रहें.
-कम पैसों का ट्रांजेक्शन पेटीएम या फिर दूसरे ऐप से करें, कार्ड का यूज कम करें.
-सुरक्षित स्थान पर ही कार्ड से पेमेंट करें.