close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

AIMPLB की बैठक पर मोहसिन रजा ने उठाए सवाल, बोले- 'इनका मकसद क्या है?'

अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की इस बैठक पर सवाल उठाए हैं. मोहसिन रजा का सवाल है कि, 'यह बैठक ऐसे समय पर बुलाई गई है, जब सुप्रीम कोर्ट राममंदिर पर फैसला देने वाला है.'

AIMPLB की बैठक पर मोहसिन रजा ने उठाए सवाल, बोले- 'इनका मकसद क्या है?'
ल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक पर सवाल उठाए हैं. (फोटो साभारः twitter)

लखनऊः अयोध्या मामले को लेकर लखनऊ में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक जारी है, जिसमें यूनिफार्म सिविल कोड समेत मुस्लिम महिलाओं के सशक्तिकरण पर भी चर्चा हो सकती है. राबे हसन नदवी की अध्यक्षता में अयोध्या मामले समेत कई विषयों पर चर्चा हो रही है. बैठक को इसलिए भी अहम माना जा रहा है, क्योंकि यह अयोध्या मामले की आखिरी सुनवाई से तुरंत पहले बुलाई गई है. कयास लगाए जा रहे हैं कि बैठक में इस 17 अक्टूबर को अयोध्या मसले की सुनवाई के बाद आने वाले फैसले की संभावनाओं पर भी व्यापक विचार विमर्श किया जएगा.

ऐसे में अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की इस बैठक पर सवाल उठाए हैं. मोहसिन रजा का सवाल है कि, 'यह बैठक ऐसे समय पर बुलाई गई है, जब सुप्रीम कोर्ट राममंदिर पर फैसला देने वाला है. इस समय एक असंवैधानिक NGO जो हमेशा से देश के खिलाफ काम करता रहा है, हमेशा आतंकवाद के समर्थन में बोलता रहा है, NRC और तीन तलाक कानून के खिलाफ बोलता रहा है. उसने अचानक यह बैठक क्यों बुलाई है?'

देखें LIVE TV

बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के संयोजक बोले- अयोध्या मामले में किसी तरह की बातचीत मंजूर नहीं

मोहसिन रजा ने आगे कहा कि, 'राम मंदिर पर फैसले से पहले एक असंवैधानिक एनजीओ बैठक कर रहा है, ऐसे में इसके मकसद पर सवाल उठना लाजमी है. आज देश के बाहर से टेरर फंडिंग हो रही है . ऐसे में यह सवाल उठना भी लाजमी है कि इनकी फंडिंग कौन करता है? वहीं जब राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने वाला है तो इस बैठक का मकसद क्या है? इसके पीछे कौन लोग हैं?'