इस शहर में अगर किसी निकाह में बजा बैंड-बाजा, इमाम दूल्हे-दुल्हन को देंगे ऐसी सजा!

बुढ़ाना इलाके के उमरपुर गांव की जामा मस्जिद में इमामों ने एकत्रित होकर एक मीटिंग की. इस बैठक में उन्होंने समाज में बढ़ते फिजूलखर्चे और सामाजिक बुराइयों पर विचार-विमर्श किया गया...

इस शहर में अगर किसी निकाह में बजा बैंड-बाजा, इमाम दूल्हे-दुल्हन को देंगे ऐसी सजा!
सांकेतिक तस्वीर.

मुजफ्फरनगर: यूपी के मुजफ्फरनगर जनपद में निकाह में बैंड-बाजे और आतिशबाजी को लेकर एक बड़ा फैसला लिया गया. बीते शुक्रवार बुढ़ाना इलाके की जमीयतुल इमाम जियाउर्रहमान जामा मस्जिद के इमामों ने फतवा जारी कर पटाखों और डीजे पर रोक लगा दी है. धर्मगुरुओं की मीटिंग में यह निर्णय लिया गया कि अगर किसी शादी में डीजे-बैंड या आतिशबाजी होगी तो उस शादी में मौलाना निकाह नहीं पढ़ाएंगे. 

ये भी पढ़ें: रहें सावधान! अब UP में भी तेजी से फैल रहा है कोरोना वायरस, यह हैं टॉप-10 जिले

सामाजिक बुराइयों पर भी हुई चर्चा
गौरतलब है कि बुढ़ाना इलाके के उमरपुर गांव की जामा मस्जिद में इमामों ने एकत्रित होकर एक मीटिंग की. इस बैठक में उन्होंने समाज में बढ़ते फिजूलखर्चे और सामाजिक बुराइयों पर विचार विमर्श करते हुए यह फैसला लिया है.

ये भी देखें: ये Video देख 'मुंह मीठा' नहीं कर पाएंगे आप, दुकान में घुसकर डॉगी ने चट कर दी मिठाई

बढ़ती जा रही है फिजूलखर्ची
मस्जिद के मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह मजाहिरी ने बताया कि शादी-ब्याह में नाच-गाना, बैंड-बाजा, आतिशबाजी का प्रचलन बढ़ता जा रहा है. यह समाज पर दुष्प्रभाव तो डालता ही है, साथ ही फिजूलखर्चे को भी बढ़ावा देता है. इसको लेकर इलाके के मौलानाओं ने सर्वसम्मति से फैसला लिया है कि अगर किसी शादी-ब्याह में यह चीजें पाई गईं, तो कोई भी मौलाना उसमें शामिल होने नहीं जाएगा. न ही निकाह पढ़ा जाएगा. 

WATCH LIVE TV